पिंडरा में आये 103 मामले, निस्तारण 3 का

Estimated read time 0 min read
Spread the love

पिंडरा/संसद वाणी
पिंडरा तहसील के सभागार में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिबस पर तपती धूप भी फरियादियो को नही रोक पाई और न्याय के लिए अधिकारियों से फरियाद करते नजर आए। लेकिन उन्हें इस बार भी आश्वासन ही मिला।
पिंडरा तहसील में एसडीएम पिंडरा अंशिका दीक्षित की अध्यक्षता में शनिवार को आयोजित समाधान दिवस पर कुल 103 मामले आये। जिसमे मात्र 3 मामलों का निस्तारण हो पाया। तहसील दिवस के दौरान अनेई सिसवा निवासी शेषमणि द्वारा सरकारी नाली को कुछ लोग द्वारा पाट लिए जाने की शिकायत करने व पूर्व में अधिकारियों के आदेश के बावजूद भी सीमांकन के लिए अवैध सुबिधा शुल्क लेखपाल द्वारा मांगने की शिकायत की। जिसपर एसडीएम ने उक्त भूमिका को संदिग्ध देखते हुए जांच के आदेश दिया।
फूलपुर के असिला निवासी आभा सिंह ने शिकायत की कि उसके पड़ोसी स्थानीय दरोगा से मिलकर शौचालय नही बनने दे रहे हैं। जबकि कागजात में सब सही है। जिसपर एसओ को राजस्व टीम के साथ मिलकर जांच के आदेश दिया।
मझवा कला निवासी देवेंद्र प्रसाद सिंह ने सरकारी चकरोड दबंगों द्वारा कब्जा करने की शिकायत की। जिसपर लेखपाल को जांच के निर्देश दिया।
तेलारी के महेंद्र गुप्ता ने मुंबई से गायब भाई के हिस्से की जमीन फर्जी ढंग से बैनामा करा लेने व शिकायत करने पर दबंगो द्वारा जान से मारने की धमकी दी। जिसे तहसीलदार को जांच के लिए दिया गया।
शिवपुर हटिया की दुर्गावती ने विद्युत विभाग के अधिकारियों की शिकायत करते हुए बताया कि वह मझवा में खेती के लिए जमीन ली थी। लेकिन बिजली विभाग के लोग एक किनारे से बिजली का खम्बा न गाढ़ कर बीच खेत मे गाढ़ दिए। एसडीएम ने एसडीओ को जांच का आदेश दिया।
वही पुआरी कला के पूर्व सैनिक व एनएसजी रहे माता प्रसाद सिंह ने गांव में सीवर लाइन बिछाने की मांग की। जिससे गांव को स्वच्छ और सुंदर रखा जा सके।
तहसील दिवस के दौरान कई अधिकारियों के अनुपस्थित होने पर नोटिस जारी किया गया।
तहसील दिवस पर एसीपी अमित पांडेय, तहसीलदार विकास पांडेय, बीडीओ दीपकंर आर्य, एसडीओ संजीव श्रीवास्तव, सीडीपीओ आर एन सिंह बीईओ देवीप्रसाद दुबे के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours