नेशनल हाइवे-233 का 16 किलोमीटर फोरलेन रोड नही बना -अतिक्रमण हटाने के लिए लगाया लाल निशान

Estimated read time 1 min read
Spread the love

लाल निशान लगाने से ग्रामीण हुए परेशान -तीन दिन में अतिक्रमण हटाने का आदेश

दानगंज/संसद वाणी

वाराणसी-आजमगढ नेशनल हाइवे 233 फोरलेन के चौड़ीकरण के जद मे आये भवन पर नेशनल हाइवे ने लाल निशान लगाकर तीन दिन के अंदर तोडने की नोटिस दे दिया जिसको लेकर ग्रामीणो मे आक्रोश व्यक्त है ग्रामीण ने कहा कि पहले सड़क पुरी कराए फिर हम खुद अतिक्रमण हटा देगे.ग्रामीण ने मनमाने ढंग से निशान लगाने और निर्माण का मुआवजा भी नही मिलने की बात कही है, नेशनल हाइवे के विरुद्ध न्यायालय जाने की तैयारी कर रहै है। ग्रामीण मुन्ना यादव. तारा देवी,चन्द्र प्रकाश विश्वकर्मा दिनेश यादव, अखिलेश यादव, आनन्द, अजय भोला विश्वकर्मा आदि के अनुसार आज नेशनल हाइवे की टीम आज मनमाने ढंग से निशान लगा दिया जबकि महमूदपुर (रसड़ा) के आगे जौनपुर बार्डर से कंजहित आज़मगढ़ बार्डर तक 16 किलोमीटर तक फोरलेन का निर्माण ही अभी तक नही हो पाया है, निर्माण कराके खाली कराने करवाई होती तो बेहतर होता।ग्रामीण के अनुसार अधिग्रहण की गई जमीन और निर्माण दोनो को खाली पूर्व मे करा ली थी जो भी निर्माण फोरलेन के दायरे मे है उसे कार्यदायी संस्था ने मुआवजा के भुगतान न करते हुए कहा था कि यह जमीन अधिग्रहण के बाहर है।

ढेरही बाजार में टोल प्लाजा बनना बना अतिक्रमण तोडने का कारण

ग्रामीण की माने तो 16 Km फोरलेन दानगंज से कजहित जौनपुर तक फोरलेन का निर्माण तक नही हो पाया है और नेशनल हाइवे ने मोढैला की जगह बलरामगंज बाजार मे बना दिया इस कारण जबरजस्ती टोल प्लाजा के दोनो तरफ तोडने की कार्रवाई कर रही है टोल प्लाजा के निर्माण का विरोध ग्रामीण किये थे और केंद्रीय मंत्री /चन्दौली सांसद डा. महेंद्र नाथ पाण्डेय ने हटवाने का आश्वासन भी दिया था. ग्रामीण तोडफोड की कार्रवाई रुकवाने के लिए चन्दौली सांसद से गुहार लगायेगे और न्यायालय की शरण लेगे। जौनपुर (चन्दवक)में किसान नेता और किसानों द्वारा जगह जगह बोर्ड लगाकर लिखा गया कि “रोड़ नही तो टोल नही” का स्लोगन लिखा है |

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours