पीएम मोदी के संकल्प के परिणाम से कई करोड़ बहने लखपति दीदी बन गई है – सीमा द्विवेदी

Estimated read time 1 min read
Spread the love

मोदी सरकार ने योजनाओं से महिलाओं तक सीधे पहुंचाया लाभ – सीमा द्विवेदी

भाजपा महिला मोर्चा की प्रबुद्ध महिला सम्मेलन संपन्न, हुए सांस्कृतिक आयोजन

वाराणसी/संसद वाणी : प्रबुद्ध महिलाओं के सहारे समाज में पैठ बनाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी, महिला मोर्चा द्वारा रविवार को चेतगंज स्थित श्री आर्य महिला हितकारिणी महा परिषद् में प्रबुद्ध महिला सम्मेलन का आयोजन संपन्न हुआ।
सम्मेलन में मुख्य अतिथि राज्यसभा सांसद सीमा द्विवेदी ने पौराणिक, आध्यात्मिक व सांस्कृतिक बनारस जहां मोक्ष दाहिनी गंगा बहती हैं, जहां पर बाबा काशी विश्वनाथ जी निवास करते हैं, ऐसी नगरी में कार्यक्रम रखना व मुख्य वक्ता के रूप में आमंत्रित होने के लिए शीर्ष नेतृत्व का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि हमारा देश भी पौराणिक काल से महिलाओं को मान्यता देता चला आया है। जहां हमारी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने भी शुरू से ही बहनों का सम्मान किया है, उन्हें उच्च दर्जा दिया है। उन्होंने कहा कि जब एक महिला बाहर निकलती है चाहे राजनीति हो, नौकरी हो, सामाजिक कार्यों के लिए बाहर जाती हो तो वह महिला बहुत सारी जिम्मेदारियों को लेकर निकलती हैं कि उसे समय से वापस आना है और अपने उत्तरदायियों का निर्वहन भी करना है। बचपन से लेकर अंतिम समय तक बहनों का जीवन दूसरों के प्रति निर्भर रहता है, लेकिन प्रधानमंत्री जी ने संकल्प लिया है कि हमारी बहनें आत्मनिर्भर बने। प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा सोच व संकल्प का ही परिणाम है कि आज कई करोड़ बहनें लखपति दीदी बन गई। उन्होंने कहा कि विकसित भारत संकल्प यात्रा के दौरान पाया कि गांव-गांव में खेतों में खाद का छिड़काव करने के लिए ड्रोन सखी बनाई गई। हमारे प्रधानमंत्री जी भी यही चाहते हैं कि हमारे सभी बहनें अपने पैरों पर खड़ी हो। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी का ही देन है कि जब सभी जिम्मेदारियां को हमारी बहनें निभाती हैं तो ऐसे में राशन कार्ड पर घर का मुखिया भी महिलाओं को बनवा दिया। निःशुल्क जनधन खाता खोलकर बहनों को बैंक जाने का मौका दिया। यहां तक कि 26 जनवरी को परेड में तीनों सेनाओं की कमान हमारी महिला बहनें ही संभाल रही थी। जो हमारे समाज के लिए गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि हमारी बहनें डॉक्टर, इंजीनियर, पॉलीटिशियन बनती है लेकिन देश की आजादी में पहली बार ऐसा हुआ जब देश की राष्ट्रपति जनजाति समुदाय के महिला को बनाया गया।
कार्यक्रम के प्रारंभ में राज्यसभा सांसद सीमा द्विवेदी व क्षेत्रीय अध्यक्ष महिला मोर्चा नम्रता चौरसिया ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय एवं डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर पुष्प अर्पित किया। तत्पश्चात श्वेता वर्मा और अन्य ने वंदे मातरम गीत प्रस्तुत किया। अतिथियों का माल्यार्पण व अंग वस्त्र से स्वागत किया गया।
स्वागत भाषण कार्यक्रम संयोजिका क्षेत्रीय मंत्री पूजा दीक्षित ने दिया।
विशिष्ट अतिथि क्षेत्रीय अध्यक्ष नम्रता चौरसिया ने उपस्थित महिलाओं को नमो ऐप डाउनलोड कराया साथ ही उपस्थित महिलाओं ने केंद्र सरकार के द्वारा पेश किए गए बजट के प्रति आभार भी व्यक्त किया।
कार्यक्रम के दौरान सांस्कृतिक आयोजन भी प्रस्तुत किए गए।
कार्यक्रम की अध्यक्षता महानगर अध्यक्ष कुसुम सिंह पटेल, संचालन महामंत्री प्रज्ञा पांडेय तथा धन्यवाद ज्ञापन जिला अध्यक्ष विनीता सिंह ने दिया।
इस दौरान मुख्य रूप से नम्रता चौरसिया, पूजा दीक्षित, प्रियंका दूबे, अपराजिता सोनकर, सुरेखा सिंह, पूजा पांडेय, कुसुम पटेल, विनीता सिंह सहित नागर मल मुरारका की प्रधानाध्यापिका अंजना दीक्षित, बहु बेटी कुटुंब फाउंडेशन की श्रुति जैन, होटल मैनेजमेंट एसोसिएशन की कंचन गुप्ता, इनरव्हील क्लब एसोसिएशन के प्रियंवदा, प्रोफेसर जया, एनजीओ से प्रीति जायसवाल सहित बड़ी संख्या में प्रबुद्ध महिलाएं मौजूद रही।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours