अपहरण कर हत्या करने वाले प्रेमी-प्रेमिका और दोस्त को भेलूपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार

Estimated read time 1 min read
Spread the love

वाराणसी/संसद वाणी

जनपद वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट की भेलूपुर थाना क्षेत्र की पुलिस ने अपहरण और हत्या करने में प्रेमी -प्रेमिका और दोस्त को गिरफ्तार किया है। तीनो आरोपियों ने मिलकर प्रेमिका के आशिक का अपहरण कर हत्या कर दी। हत्या की साजिश पूरी तरफ फिल्मी है, जिसका खुलासा वाराणसी पुलिस ने किया। वाराणसी पुलिस के अनुसार आशिक की प्यार से अजीज़ आकर प्रेमिका ने अपने प्रेमी और उसके दोस्त के साथ मिलाकर इस खौफनाक घटना को अंजाम दिया, जिसमे आशिक की मौत हो गई। वाराणसी के भेलूपुर थाने की पुलिस ने हत्यारोपी प्रेमी -प्रेमिका और उनके दोस्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।
जाने क्या है पूरा मामला-

वाराणसी में अपनी प्रेमिका से मिलने पहुंचा जनपद फर्रुखाबाद का रहने वाला युवक देवयांश यादव 29 मई को लापता होने की सूचना वाराणसी पुलिस को उसके परिजनों ने दिया। परिजनों ने इसकी शिकायत वाराणसी के भेलूपुर थाने में किया। परिजनों के अनुसार उन्हें सूचना मिली की जिस होटल में देवांश यादव रुका हुआ था वहां वह लौटकर नहीं आया। होटल संचालकों के द्वारा इसकी सूचना परिजनों को दी गई। वहीं इस पूरे मामले की वाराणसी पुलिस जांच कर ही रही थी कि कुछ दिन बाद परिजनों ने भेलूपुर थाना क्षेत्र की पुलिस को देवांश यादव के अपहरण और हत्या होने की आशंका पर प्रेमिका सहित अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया गया।
इस पूरी घटना को लेकर जांच में जुटी भेलूपुर थाने की पुलिस ने तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया। इस घटना का खुलासा करते हुए काशी ज़ोन के डीसीपी काशी आर.एस.गौतम ने बताया कि बीएचयू में पढ़ने वाली अनुष्का तिवारी नामक छात्रा अपने पूर्व के प्रेमी से परेशान थी। अनुष्का कानपुर की रहने वाली थी और उसका पूर्व प्रेमी देवांश यादव कानपुर में उसके साथ कक्षा 6 से 9 वी तक पढ़ाई किया हुआ था।
ऐसे में अनुष्का और देवांश पहले लिव इन रिलेशन में रहते थे, लेकिन जब अनुष्का का एडमिशन बीएचयू में हुआ तो दोनो की दूरियां बढ़ गई। अनुष्का अब देवांश का साथ छोड़ मिर्जापुर के राहुल सेठ से प्रेम करने लगी। ब्रेकअप के बाद भी देवांश यादव लगातार अनुष्का पर मिलने का दबाव बना रहा था और उसे परेशान कर रहा था। देवांश से परेशान होकर अनुष्का अपने प्रेमी राहुल सेठ और उसके दोस्त सादाब के साथ मिलकर रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। पूर्व प्रेमी देव्यांश को रास्ते से हटाने के प्लानिग के अनुसार अनुष्का तिवारी ने व्हाट्सएप कॉल कर देवांश को वाराणसी बुलाया। वाराणसी में देवांश अस्सी घाट के होटल में ठहरा था। ऐसे में अनुष्का ने अपने प्रेमी को देर शाम मिलने को बुलाया और चार पहिए वाहन से घूमने की बात कही। चार पहिया वाहन कोई और नही बल्कि अनुष्का के प्रेमी का दोस्त सादाब चला रहा था। इस दौरान को कोल्डड्रिंक में नशीली दवा मिलाकर अनुष्का ने अपने पूर्व प्रेमी देवांश को दिया और उसे पीते ही देवांश यादव बेहोश हो गया।
वही जब सभी वाराणसी से चंदौली जिले के सिंधी ताल पुलिया के पास पहुंचे थे, कि बेहोश हुए पूर्व प्रेमी देवांश यादव को होश आने लगा। जिससे सभी घबरा गए की कही वह पकड़े न जाए। ऐसे में सदाब और राहुल सेठ ने सड़क किनारे गिट्टियों पर देवांश को पटकने लगे। वही राहुल सेठ में सीनेमें पेचकस से वार कर अंधेरे में फरार हो गए ।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours