चंदौली खाकी बनी रक्तवीर: रिश्ते खून से बनते हैं, जिंदगी बचेगी तो विश्वास बढ़ेगा, इस स्लोगन के तदर्थ 50 यूनिट हुआ रक्तदान…

Estimated read time 1 min read
Spread the love

ओ पी श्रीवास्तव
चंदौली/संसद वाणी: खून की जरूरत वही समझ सकता है जिसकी एक-एक सांस उसपर टिकी हो। खून के जरूरतमंदों की मजबूरी समझते हुए और मानवता का धर्म निभाते हुए 8 डिग्री की कड़ाके की ठंड में भी महादानियोंं का पारा चढ़ा रहा। चंदौली पुलिस की पहल पर लगे रक्तदान शिविर में 50 यूनिट रक्तदान हुआ।

बता दें कि आम जन की सुरक्षा में जुटे पुलिसकर्मियों ने एसपी डा अनिल कुमार की पहल पर ठाना है कि उनके जिले में किसी की मृत्यु खून की कमी से नहीं होने दी जाएगी।एसपी द्वारा गाँधी जयन्ती पर लिए गए संकल्प के मद्देनजर लगातार जनपद चन्दौली के अलग-अलग सर्किल में रक्तदान शिविरों का आयोजन किया जा है। पुलिस अधीक्षक द्वारा अपने अधीनस्थों से किए गए आह्वान पर सभी आला अधिकारियों ने मिलकर एक योजना बनाई कि जरूरतमंदों के लिए यह खाकी रक्तवीर बनकर लोगों की मदद करेगी।

इसी क्रम में रविवार को जिला अस्पताल चन्दौली के चिकित्सक/विशेषज्ञों की टीम के तत्वाधान में एसपी डॉ अनिल कुमार की अध्यक्षता में कोतवाली चन्दौली में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। उपरोक्त रक्तदान शिविर में मुख्य अतिथि टी. निखिल फुण्डे, जिलाधिकारी चन्दौली व एसपी डॉ अनिल कुमार ने रक्तदान करके रक्तदान शिविर का शुभारम्भ किया।

जिलाधिकारी चन्दौली ने रक्तदान कर युवाओं को प्रेरित कर बताया कि रक्तदान एक महादान है जिससे दूसरों की जिन्दगी बचाई जा सकती है। इसके लिए रक्तदान करना जरुरी है। इसमें सभी को बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए।

एसपी ने कहा कि रक्तदान से बड़ा कोई दान नहीं होता है। यह एक बहुत नेक कार्य है। ऐसा करके हम किसी को नया जीवन प्रदान कर सकते हैं। जागरूकता की कमी होने के कारण कई बार मरीजों को रक्त नहीं मिल पाता जिससे उनको बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। हमारा मुख्य उद्देश्य समाज में रक्तदान को लेकर भ्रान्तियों को दूर करना हैं। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग रक्तदान करने हेतु प्रेरित हो।

इस रक्तदान शिविर में प्रतिसार निरीक्षक चन्दौली, पुलिस ऑफिस चन्दौली व सदर सर्किल के थाना कोतवाली चन्दौली, कन्दवा, सैयदराजा, व महिला थाना के 60 पुलिसकर्मियों, चिकित्साकर्मियों, ग्राम प्रहरी व संभ्रान्त व्यक्तियों ने रजिस्ट्रेशन कराया। जिसमें लगभग 50 पुलिसकर्मियों, चिकित्साकर्मियों, ग्राम प्रहरी व संभ्रान्त व्यक्तियों के साथ ही महिला थाना प्रभारी प्रियंका सिंह ने 04 माह में दो बार रक्तदान कर एक सराहनीय कार्य किया तथा महिला आरक्षियों को भी बढ़-चढ़कर रक्तदान करने के लिए प्रेरित किया।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours