चंदौली : वन्य जीव बिहार क्षेत्र में शिकारी करते हैं राष्ट्रीय पक्षी मोर का शिकार, महकमा बना रहता है मुकदर्शक, क्रूरता का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल, मचा हड़कंप

Estimated read time 1 min read
Spread the love

चंदौली/संसदवाणी

खबर जनपद चंदौली से है जहां विगत दिनों सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर राष्ट्रीय पक्षी मोर से जुड़ा एक वीडियो तेजी से वायरल हुआ। विडियो में शिकारी द्वारा मोर को पकड़कर क्रूरतापूर्वक ढंग से रस्सी के सहारे बांधते हुए दिखाया गया है। बता दें चकिया चंद्रप्रभा वन्य जीव बिहार क्षेत्र में शिकारियों द्वारा तेजी से मोर पक्षी का शिकार कर ऊंचे दामों में बेचे जाने का मामला सुर्खियों में है, लेकिन वन्य जीव बिहार क्षेत्र के जीव – जंतुओं की सुरक्षा में लगा सुरक्षा तंत्र मुकदर्शक बना बैठा है। जब इस मामले का वायरल वीडियो संज्ञान में लेकर संसदवाणी न्यूज की टीम चकिया वन विभाग के कार्यालय पहुंची तो सूचना मिलते ही संबंधित अधिकारी मौके से गायब हो गए। वहीं मौके पर उपस्थित कर्मचारी मामले के बाबत कुछ कहने से इंकार करते मिले।

वन्य जीव बिहार क्षेत्र की सुरक्षा मोर्चा संभाले कर्मियों की माने तो शिकारी से राष्ट्रीय पक्षी को लेकर जंगल में छोड़ दिया गया और अधिकारियों के निर्देश पर शिकारी को भी। जब संसदवाणी की टीम ने विभाग में उपस्थित कर्मचारियों से राष्ट्रीय पक्षी मोर को जंगल में छोड़े जाने का वीडियो मांगी तो जवाब देने में कतरा रहे कर्मचारियों के मुंह पर चुप्पी बंध गई।

हालांकि पड़ताल में यह तथ्य सामने आया कि सुरक्षा व्यवस्था में लगे सुरक्षा कर्मियों की मिलीभगत से ही शिकारियों का झुंड इन जंगलों में विचरता है और जीव जंतुओं को निशाना बनाता है। धन उगाही और लूट खसोट में लिपटा महकमा राष्ट्रीय पक्षी मोर तक को बेचने के षण्यंत्र में संलिप्त हैं। इसीलिए, क्रूरता का वीडियो उजागर होने के बाद भी शिकारी को पकड़कर छोड़ दिया गया जबकि मोर को जंगल में छोड़े का दावा बिना सबूत के गलती पर पर्दा डालने का एक बड़ा कुचक्र है।

अब देखना लाजमी होगा कि मामला संज्ञान में आने के बाद संबंधित महकमा क्या कुछ कार्रवाई अमल में लाता है या शिकारियों को वन्य जीव बिहार क्षेत्र में विचरण करने वाले जीव जंतुओं को धन उगाही के चक्कर में शिकार की खुली छूट दे देता है।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours