‘जाड़ता राजा’ नाटक का निमंत्रण सीएम ने स्वीकारा, महानाट्य देखने आएंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

Estimated read time 0 min read
Spread the love

वाराणसी/संसद वाणी

छत्रपति शिवाजी महाराज के विचारों एवं कार्यों को जन जन तक पहुँचाना अखण्ड भारत की संकल्पना को मूर्त रूप देना है उक्त बातें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जाड़ता राजा महानाट्य मंच आयोजन समिति के सदस्यों से बातचीत में व्यक्त किये।उन्होंने ने कहा कि पूर्वांचल की भूमि क्रांतिकारी आंदोलन की भूमि रही है और यहां के लोगों ने मुसलमानों से जमकर संघर्ष किया है ,लोगों ने हमेशा मूल्यों की लड़ाई का पाठ शिवाजी के विचारों और कार्यो से ही लिया है।श्री योगी ने कहा कि काशी की धरती पर इस महानाट्य मंचन से युवाओं में धर्म, संस्कृति और अध्यात्म के प्रति निष्ठा बढ़ेगी।उन्होंने ने कहा कि छत्रपति शिवाजी के शासनकाल में देश ने हर प्रकार से उन्नति किया था वे हिंदू चेतना के सजग प्रहरी और उद्घोषक थे।वे मानवता के पुजारी भी थे।श्री योगी उक्त वार्ता सर्किट हाउस में समिति के सदस्यों से कर रहे थे।उन्होंने कहा कि शिवाजी के दिखाए मार्गों का अनुसरण आज के युवाओं को करना चाहिए।आगामी 21 से 26 नवम्बर 2023 को बीएचयू के एम्पी थिएटर मैदान में आयोजित से महानाट्य मंचन का निमंत्रण पत्र सेवा भारती काशी प्रान्त के अध्यक्ष राहुल सिंह ने दिया।इस अवसर पर उपस्थित काशी प्रान्त के प्रांत प्रचारक श्री रमेश जी से मुख्यमंत्री ने कहा कि उदघाटन अवसर पर मैं खुद रहकर नाट्यमन्चन देखूंगा।इस अवसर पर आयोजन समिति के सचिव श्री अनिल किंजवेकर, सेवा भारती काशी प्रान्त महामंत्री श्री जियुत राम विश्वकर्मा, हरिनारायण विसेन,सतीश जैन,विपिन सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours