आंगनबाड़ी केंद्रों के निर्माण कार्य में लेट लतीफी व टालमटोल बर्दाश्त नहीं : डीएम

Estimated read time 1 min read
Spread the love

ओ पी श्रीवास्तव

चंदौली/संसद वाणी : जिलाधिकारी निखिल टी. फुंडे की अध्यक्षता में बच्चों, गर्भवती, धात्री, किशोरियों, महिलाओं को पोषण स्तर में सुधार लाने एवं उन्हें बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने को लेकर जिला पोषण समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। आंगनबाड़ी केन्द्र विकसित करने, निर्माणाधीन आंगनबाड़ी भवनों के निर्माण की प्रगति, सैम मैम चिंहित बच्चों के पोषण श्रेणी में सुधार एवं उनकी स्वास्थ्य जांच एवं प्रबंधन, एनीमिया मुक्त भारत, बच्चों का आधार नामांकन, पोषण माह के क्रियांवयन, पोषण ट्रैकर ऐप पर लाभार्थियों के आधार सत्यापन, आंगनबाड़ी केंद्रों की जिओ टैगिंग एवं आंगनबाड़ी केंद्रों पर अनुपूरक पुष्टाहार ड्राई राशन के वितरण आदि की बिंदुवार समीक्षा की गयी।

बैठक के दौरान प्रगति रिपोर्ट अपडेट न करने व बैठक की पूरी तैयारी न करके आने पर सख्त चेतावनी देते हुए जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास को कहा कि बैठक से पूर्व पूरी तरह सभी बिंदुओं पर तैयारी करते हुए प्रतिभाग किया जाय। अन्य विभागों से समन्वय भी स्थापित करते हुए बाल विकास विभाग की विभिन्न योजनाओं को शासन के मंशानुरूप जनपद में पात्र लोगों को अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित किया जाय।

बैठक के दौरान समीक्षा करते हुए निर्माणाधीन आंगनवाड़ी केंद्रों की कार्य मे लेट-लतीफी पर काफी नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये कार्यदायी संस्था को दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि बार-बार कहने के बाद भी विद्यालयो में स्थापित होने वाले पोषण वाटिका काफी विद्यालयों में अभी तक क्रियाशील नही होने पर सख्त हिदायत देते हुए एक सप्ताह में कराने के निर्देश दिये।जिलाधिकारी ने लर्निंग लैब की स्थापना में तेजी लाने के निर्देश दिये। हॉट कुक्ड शत प्रतिशत आंगनवाड़ी केंद्रों में वितरित सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि अधिकारियों की माह फरवरी में ड्यूटी लगाकर जाँच पड़ताल शुरू किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि आंगनवाड़ी केंद्रों में बच्चों को हॉट कुक्ड वितरण करना शासन की शीर्ष प्राथमिकता में है, इसमें लापरवाही बरतने वाले को बख्शा नहीं जायेगा। लाल श्रेणी के बच्चों को चिन्हित कर एन.आर.सी चकिया में भर्ती कराते हुए समुचित इलाज सुनिश्चित किया जाय। नौगढ़ में सैम-मैम बच्चों को चिन्हित करने में लापरवाही बरतने पर डीपीओ को निर्देश देते हुए कहा कि सीडीपीओ के माध्यम से चिन्हितकरण कराते हुए तेजी लाई जाए। जिलाधिकारी ने सख्त हिदायत देते हुए कहा कि जिनकी प्रगति खराब होगी तो अगले माह से उनका वेतन कट कर मिलेगा। जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान सभी को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि विभागीय दायित्वों को समयबद्ध तरीके से तय मानक में पूर्ण किया जाय।

लापरवाह आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों पर हो कार्यवाही

बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने पाया कि कई आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों की लापरवाही की वजह से पोषण मिशन के अभियान में प्रगति धीमी होती है। इस पर उन्होंने सभी सुपरवाइजर व सीडीपीओ को निर्देश दिया कि वह सभी आंगनवाड़ी केंद्रों का औचक निरीक्षण करें। निरीक्षण के समय यदि आंगनवाड़ी केंद्र बंद पाया जाए अथवा कार्यकत्री अनुपस्थित पाई जाए तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। लापरवाह आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाए।

बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी एस एन श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक चकिया, पीडी डीआरडीए, जिला पंचायत राज अधिकारी, डीसी एनआरएलएम, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास, समस्त एडीओ पंचायत, समस्त सीडीपीओ सहित अन्य संबंधित अधिकारी गण उपस्थित रहे।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours