प्रथम भक्ति सत्संगा– राजन जी महाराज

Estimated read time 1 min read
Spread the love

संवाददाता /दीपक कुमार सिंह

चोलापुर/संसद वाणी – वाराणसी-आजमगढ़ हाईवे मार्ग पर महावीर मन्दिर के पास मंगलवार को कथा के आठवें दिन कथा वाचक राजन महाराज अपने भक्तों को बताया कि प्रभु भगवान भोलेनाथ माता पार्वती जी को श्री राम कथा के आगे की वाक्यांश बताते हुये बताया कि भरत मिलाप मिलन से लेकर कौवा बना जयंत को तिनके से ब्रह्मास्त्र का बाण छोड़कर दंडित किया वही महाराज ने बताया कि प्रभु से बैर रखने वाले को तीनों लोको में कोई नहीं बचा सकता है साथ ही सुपुनखा का नक्टैया खरदूषण वध वर्णन करते हुए सीता हरण के कथा को बताया हरण के समय गिद्धराज जटायू रावण से आकाश मार्ग में लड़ते समय पंख कट जाने से गिर गए थे भगवान राम से मिले भगवान ने उनको सदगति प्राप्त कराई वही सेवरी के आश्रम में पहुंचकर सेवरी के रखे बेर का भोग लगाया भोग लगाने के बाद सेवरी ने मां जानकी का पता पंपापुर पहाड़ पर सुग्रीव उसके यहां मिलने को बताया साथ ही सेवरी भगवान प्रभु राम के दर्शन के बाद शरीर का त्याग कर दिया और बैकुंठ को चली गई महाराज ने बताया कि भक्ति के 9 मार्ग प्रथम भक्ति सत्संग दूसरी भक्ति कथा प्रसंग क्रोमोजोम नौ प्रकार की भक्ति करने से मनुष्य का उद्धार हो जाता है इस मौके पर विशिष्ट भाजपा विधायक सैयद राजा सुशील सिंह, रोहनिया विधायक सुनील पटेल, श्रवण मिश्रा, अर्चना मिश्रा,प्रेम यादव,प्रियंका यादव, पूनम मौर्या जिला पंचायत अध्यक्ष,जिला अध्यक्ष अपना दल नरेंद्र पटेल, टेक नारायण उपाध्याय पुजारी काशी विश्वनाथ, मनोज मिश्रा, विनय तिवारी प्रिंस चौबे,आदि लोगो के साथ साथ हजारो भक्त गण मौजूद रहते हुये श्री राम कथा का भरपूर आनंद उठाया।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours