चंदौली:कार्रवाई के नाम पर आश्वासनों का जामा पहनाने वाले अधिकारियों की खुली पोल, दिशा की बैठक में धानापुर ब्लाक प्रमुख ने विभागवार अधिकारियों की खोली कलई…

Estimated read time 1 min read
Spread the love

ओ पी श्रीवास्तव
चंदौली/संसद वाणी: पिछड़े से विकसित जनपद की श्रेणी की राह पकड़े जनपद चंदौली में सरकार के द्वारा जारी विकासशील योजनाओं की हकीकत से आज खुद सत्ता पक्ष के प्रतिनिधि ने रूबरू कराया। बता दें कि बबुरी अशोक इंटर कालेज में सांसद खेल एवं सांस्कृतिक स्पर्धा प्रतियोगिता के आयोजन में मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय मंत्री व स्थानीय सांसद ने शिरकत की। इसके पश्चात कलेक्ट्रेट सभागार में दिशा की बैठक का आयोजन था। इस दौरान सैयदराजा विधायक सुशील सिंह समेत भाजपा के जिलास्तरीय नेताओं और ब्लाक प्रमुखों का जत्था पहुंचा तो जनपद के समस्त विभागों की कलई खुलकर सामने आई। दिशा की बैठक में विधायक सुशील सिंह के समक्ष धानापुर ब्लाक प्रमुख अजय सिंह खलनायक ने जनपद के चुनिंदा विभागों के सक्षम अधिकारियों की कलई खोल के रख दी। केंद्रीय मंत्री के दिशा की बैठक में पहुंचने के पूर्व धानापुर ब्लाक प्रमुख ने सबसे पहले स्वास्थ्य विभाग को निशाने पर लिया। इस दौरान उन्होंने ने सीएमओ से धानापुर में स्वाथ्य व्यवस्था की बदहाल स्थिति और अवैध रूप से संचालित अस्पतालों के ऊपर की गई कार्रवाई का ब्यौरा मांगा। साथ ही जीयनपुर में करोड़ों की लागत से बने स्वास्थ्य केंद्र की बदहाल व्यवस्था का हवाला दिया तो सीएमओ समेत अन्य अधिकारी चुप्पी साध बैठे। उन्होंने विभाग की उदासीनता के तदर्थ सांसद जी समक्ष लच्छेदार भाषण देने से कार्यों की इतिश्री कर देने वाले सीएमओ की कार्यप्रणाली को विधायक के समक्ष रखा तो विधायक भी सन्न रह गए।ब्लाक प्रमुख ने बताया की दिशा की तीसरी बैठक में भी जीयनपुर का मामला उठना हास्यप्रद है, झाड़ – झंखाड़ के सिवा कुछ नहीं है वहां। वही जलनिगम विभाग के अधिकारियों की उदासीनता पर सवाल उठाते हुए कहा की मुगलसराय की एकमात्र घटना से पूरे चंदौली के जनप्रतिनिधि चोर बना दिए गए और कई बार फोन करने के बाद भी संबंधित विभाग के अधिकारी फोन नहीं उठाते। कई विकासपरक योजनाओं के धन भी डकार गए। इस तरह के कई आरोपों की झड़ी जनपद चंदौली के अलग – अलग विभागों पर लगाते हुए ब्लाक प्रमुख ने विद्युत विभाग की कार्यप्रणाणी पर भी सवाल दागे, कहा कि विद्युत कनेकशन धारी की मृत्यु हो जाने के बाद भी उसके नाम पर बिल आ रहा है, जबकि परिजन नाम कटवाने का प्रार्थना पत्र भी दे चुके हैं।

उन्होंने विभागीय अधिकारियों पर सिर्फ मंत्री जी के समक्ष लच्छेदार भाषण देकर योजनाओं का इति श्री करना जानते हैं जबकि वास्तविकता इससे कोषों दूर है। उन्होंने कहा की यही रवैया रहेगा तो आगामी चुनाव में क्या मुद्दे लेकर हम वोट मांगने जाएंगे।हालांकि इन तमाम मुद्दों पर विधायक ने अधिकारियों को जल्द कार्रवाई अमल में लाने के सख्त निर्देश दिए हैं, अब देखना लाजिमी होगा कि दिशा की बैठक उठाए गए तमाम मुद्दों पर चंदौली के विभागीय अधिकारी कितना संज्ञान लेते हैं और कार्रवाई अमल में लाकर योजनाओं को जन तक सुलभ कराते हैं।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours