संकुल घाट पोखरा के पास पैसे की बरामदगी से लोग बेखबर:-अमिताभ ठाकुर

Estimated read time 0 min read
Spread the love

वाराणसी/संसद वाणी

आजाद अधिकार सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी डॉ नूतन ठाकुर आज वाराणसी के चार दिवसीय दौरे पर आए, इस दौरान उन्होंने अस्सी घाट क्षेत्र स्थित एक निजी रेस्टोरेंट में पत्रकार वार्ता की, उन्होंने कहा कि इस दौरान वे और उनके साथी जनपद में हुए विकास कार्यों की सच्चाई जानने के लिए वाराणसी का भ्रमण करेंगे, उन्होंने वाराणसी में हुए विकास कार्यों को लेकर गंभीर आरोप लगाए, अमिताभ ठाकुर ने कहा कि वाराणसी जनपद में जितने भी विकास के कार्य हैं, उन सभी कार्यों में 75% तक भ्रष्टाचार किया गया है और मात्र 25% धनराशि ही वास्तव में विकास कार्य में लगा है. भाजपा द्वारा वाराणसी के विकास की जो बात कही जाती है, जमीनी हकीकत कुछ और ही है, अमिताभ ठाकुर ने कहा कि वाराणसी में बाबा विश्वनाथ का कॉरिडोर हो या वरुणा कॉरिडोर, जितने भी कार्य किए गए सभी में भारी भ्रष्टाचार हुआ है, साथ ही अमिताभ ठाकुर ने भेलूपुर में हुए डकैती मामले से संबंधित पुलिस के बताए घटना स्थल का निरीक्षण किया. इस प्रक्रिया में वे संकुल घाट पोखरा और उसके बगल में स्थित चौकी पुलिस चौकी तथा आदि शंकराचार्य कॉलोनी गए, संकुल घाट पोखरा पर सभी व्यक्तियों ने एक स्वर में कहा कि उन्हें वहां कार से माल बरामद होने की कोई जानकारी नहीं थी,
आदि शंकराचार्य कॉलोनी में अमिताभ ठाकुर और डॉ नूतन ठाकुर उस घर तक गए जहां पुलिस वालों ने 29 मई को जाकर नोट बरामद किया था. साथ ही वे बगल की उस दुकान में भी गए जहां की डीवीआर पुलिस लेकर गई है.
इसके बाद अमिताभ ठाकुर ने कहा कि इस मामले में पुलिस की कहानी पूरी तरह झूठी दिखती है. किसी भी स्तर पर पुलिस के दावे और मौके की सच्चाई में कोई तालमेल नहीं दिखता है. उन्होंने कहा कि इस पूरे प्रकरण की सीबीआई जांच यदि सरकार नही करवाती है, तो वह सीबीआई जांच के लिए कोर्ट जाएंगे. उनके पास इस पूरे घटनाक्रम से जुड़ी कई क्लिप है, जिससे यह पता चलता है कि ऊपर के अधिकारियों को इस प्रकरण की जानकारी थी,अमिताभ ठाकुर ने संकुल घाट पोखरा का निरीक्षण कर वहां की स्थिति पर कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि इस पोखरे को देखने से साफ हो जाता है कि वाराणसी में भ्रष्टाचार की कितनी भीषण स्थिति है,इस दौरान पार्टी के वाराणसी जिला अध्यक्ष मनोज शर्मा सहित तमाम पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहे,

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours