पीएम मोदी ने बड़े  ही खास अंदाज में शेख हसीना को दी बधाई, बांग्लादेश की पीएम ने ऐसे दिया जवाब

Estimated read time 1 min read
Spread the love

PM Modi Congratulates Sheikh Hasina: भारत और बांग्लादेश के संबंध मधुर माने जाते हैं. शेख हसीना ने चुनाव के दौरान और जीत के बाद भारत को पक्का दोस्त बताया. अब पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री शेख हसीना को बधाई दी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को आम चुनाव में उनकी पार्टी की प्रचंड जीत पर बधाई दी है. साथ ही कहा है कि भारत बांग्लादेश के साथ अपनी स्थायी और लोगों की भलाई पर आधारित साझेदारी को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है. पीएम शेख हसीना ने भी जीत के बाद भारत को धनिष्ट मित्र बताया था और कहा था कि दोनों पड़ोसियों ने द्विपक्षीय रूप से कई समस्याओं का समाधान किया है. 

पीएम मोदी ने अपने आधिकारिक X हैंडल से एक पोस्ट में कहा, ”प्रधानमंत्री शेख हसीना से बात की और संसदीय चुनावों में लगातार चौथी बार ऐतिहासिक जीत पर उन्हें बधाई दी. मैं बांग्लादेश के लोगों को भी सफल चुनाव के लिए बधाई देता हूं. हम बांग्लादेश के साथ अपनी स्थायी और जन-केंद्रित साझेदारी को और मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.”

कैसा रहा बांग्लादेश में आम चुनाव का रिजल्ट?

बांग्लादेश में रविवार (7 जनवरी) को आम चुनाव के लिए मतदान हुआ था, जिसमें शेख हसीना के नेतृत्व वाली आवामी लीग पार्टी ने प्रचंड जीत हासिल की है. हालांकि, चुनाव में वोट कम पड़े. बांग्लादेश में मुख्य विपक्षी दल बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (BNP) और उसके सहयोगियों ने चुनाव का बहिष्कार किया था.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, अवामी लीग ने 300 सीटों वाली संसद में 223 सीटों पर जीती है. एक उम्मीदवार के निधन के कारण 299 सीट पर चुनाव हुआ था. इस सीट पर मतदान बाद में कराया जाएगा. आम चुनावों में आवामी लीग की यह लगातार चौथी जीत है. वहीं, शेख हसीना एकतरफा हुए चुनाव में कुल मिलाकर पांचवां कार्यकाल हासिल किया है. वह 2009 से सत्ता में हैं.

संसद में मुख्य विपक्षी दल जातीय पार्टी को 11, बांग्लादेश कल्याण पार्टी को एक और स्वतंत्र उम्मीदवारों ने 62 सीट पर जीत दर्ज की. जातीय समाजतांत्रिक दल और ‘वर्कर्स पार्टी ऑफ बांग्लादेश’ ने एक-एक सीट जीती.

भारत को लेकर क्या बोलीं पीएम शेख हसीना?

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, शेख हसीना ने कहा, ”भारत बांग्लादेश का बहुत घनिष्ठ मित्र है. उसने 1971 में और 1975 में भी हमारा समर्थन किया. उसने मुझे और मेरी बहन और मेरे परिवार के अन्य सदस्यों को आश्रय दिया.” वह अपने परिवार के सदस्यों की हत्या के बाद छह साल तक भारत में निर्वासन में रहने के वक्त का उल्लेख कर रही थीं.

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, “हम भारत को अपना निकटवर्ती पड़ोसी मानते हैं. हमारे बीच कई समस्याएं थीं लेकिन हमने इसे द्विपक्षीय तरीके से हल किया. इसलिए मैं वास्तव में इसकी सराहना करती हूं कि भारत के साथ हमारे अद्भुत संबंध हैं.”  

आर्थिक प्रगति पर होगा ध्यान- शेख हसीना

हसीना ने कहा कि अगले पांच वर्षों में उनकी सरकार का मुख्य ध्यान आर्थिक प्रगति पर होगा. उन्होंने कहा कि वह अपने लोगों के लिए काम करने की कोशिश करती हैं. उन्होंने कहा, ”मातृ-स्नेह के साथ, मैं अपने लोगों की देखभाल करती हूं, जिन्होंने मुझे यह मौका दिया. बार-बार लोगों ने मुझे वोट दिया है और यही कारण है कि मैं यहां हूं.”

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours