17.5 C
Munich
Tuesday, July 23, 2024

उत्तर प्रदेश के रामपुर मानवता हुई शर्मसार, SHO ने नहीं दी छुट्टी, हुई दो जानों की मौत

Must read

UP Mainpuri News:उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में तैनात एक सिपाही को छुट्टी नहीं दी गई, जिसके चलते उसकी पत्नी और अजन्मे बच्चे की मौत हो गई. इस मामले से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है.

 उत्तर प्रदेश के रामपुर मानवता को शर्मसार कर देने वाली खबर सामने आई है. गर्भवती पत्नी के इलाज के लिए मैनपुरी के रहने वाले रामपुर में तैनात सिपाही को छुट्टी नहीं मिली. नतीजा यह हुआ की पत्नी और नवजात की मौत हो गई. इस मामले में एसपी ने एसएचओ के खिलाफ जांच करने के आदेश दे दिए हैं. SP ने कहा कि इस संबंध में विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं, दोषी पाए जाने पर SHO के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी.

इस घनटा ने सिपाही को अंदर से तोड़कर रख दिया है. कांस्टेबल का नाम विकास दिवाकर है. उन्होंने सोशल मीडिया पर अपने दर्द को बया किया है.

समय से नहीं हो पाया प्रसव

विकास को छुट्टी न मिल पाने की वजह से वह समय से घर नहीं पहुंच पाए, जिसके चलते उनकी पत्नी का समय से प्रसव नहीं हो सका. समय से प्रसव न होने के चलते पत्नी ज्योति और बच्चे की मौत हो गई.

एसएचओ पर आरोप है कि विकास ने एरिया के SHO से अपनी गर्भवती पत्नी के प्रसव को लेकर छुट्टी मांगी, यहां तक की उन्होंने बार-बार विनती भी की लेकिन उन्हें छुट्टी नहीं दी गई. छुट्टी तब मिली जब उनकी गर्भवती पत्नी और बच्चे की मौत हो गई.

इस कहानी को सुनकर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है. विभाग की ओर से इस घटना के संबंध में विभागीय जांच बैठा दी गई है.

गांव से शहर फिर दूसरे शहर ले जाते वक्त हुई मौत 

विकास दिवाकर की पत्नी को शुक्रवार को तबियत खराब होने पर गांव के अस्पताल में भर्ती कराया गाय था, जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें जिला अस्पताल रेफर किया. इसके बाद उन्हें मैनपुरी से आगरा ले जाया जा रहा था तभी रास्ते में ही विकास की पत्नी और उनके बच्चे की मौत हो गई.

SHO पर गिर सकती है गाज

एसपी ईरज राजा ने इस पूरे मामले में एसएचओ को जिम्मेदार ठहराया और साथ ही यह भी कहा कि सिपाही को उन्हें जानकारी देनी चाहिए थी. उन्होंने कहा कि इस संबंध में पहले ही पत्र जारी करके थाना प्रभारी को ये निर्देश दिए गए  हैं कि किसी को छुट्टी के लिए परेशान न किया जाए.

30 दिनों की मिली छुट्टी

सिपाही विकास की हालत बहुत ही खराब है. उन्हें विभाग ने 30 दिनों की छुट्टी दी है. थाना अध्यक्ष के खिलाफ जांच की जा रही है. दोषी पाए जाने पर उन पर उचित कार्रवाई की जाएगी. 

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article