बैठक में बिना अनुमति के अनुपस्थित अधिशासी अधिकारी नगरीय निकाय पीडीडीयू नगर व सैयदराजा को कारण बताओ नोटिस जारी

Estimated read time 1 min read
Spread the love

लक्ष्य के सापेक्ष पौधरोपण हेतु आवश्यक कार्यवाही हो सुनिश्चित : डीएम

निर्धारित पौधरोपण के लक्ष्य में लापरवाही पर होगी सख्त कार्यवाही

चंदौली/संसदवाणी

जिलाधिकारी निखिल टी फुंडे की अध्यक्षता में जिला वृक्षारोपण समिति, जिला पर्यावरण समिति, जिला गंगा समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। बैठक के दौरान अनुपस्थित अधिकारी अधिशासी अधिकारी नगरीय निकाय पीडीडीयू नगर व सैयदराजा को जिलाधिकारी ने कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा जिन विभागों को वृक्षारोपण हेतु लक्ष्य का आवंटन स्वीकृत है वह अपने चिन्हित स्थलों का गड्ढा खुदान सहित अन्य आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करते हुए आज शाम तक रिपोर्ट से अवगत कराएं। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद हेतु वर्ष-2023 में जनपद में विभिन्न विभागों द्वारा कराए जाने वाले वृक्षारोपण हेतु निर्धारित लक्ष्य 6229220 पौधरोपण कराया जाना है।

जनपद में वृक्षारोपण हेतु वन विभाग को 3660900 पौध रोपण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसी प्रकार पर्यावरण विभाग 352000, ग्राम्य विकास 1342000, राजस्व विभाग 113000, पंचायती राज विभाग 137000, नगर विकास विभाग 20000, लोक निर्माण विभाग 12000, कृषि विभाग 268000, उच्च शिक्षा विभाग 18000, स्वास्थ्य विभाग 11000, रेलवे विभाग 13000, उद्यान विभाग 166000, पुलिस विभाग 7000, सहित जनपद के 27 विभागों को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

बैठक के दौरान जिला गंगा समिति की विभिन्न बिंदुओं पर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। इस दौरान उन्होंने गंगा किनारे वनीकरण, घाटों पर नियमित साफ-सफाई, गंगा में प्रवाहित होने वाले प्रदूषित नालों को टाइपिंग, जन जागरूकता तथा प्रचार-प्रसार सहित अन्य बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा किया गया। जन जागरूकता हेतु जिलाधिकारी ने गंगा किनारे/गंगा ग्रामों मैं साफ सफाई हेतु जन जागरूकता कार्यक्रम कराए जाने के निर्देश जिला पंचायत राज अधिकारी को दिया। ठोस अपशिष्ट को नदी में बहने से रोकने के संबंध में जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी एवं अधिशासी अधिकारी नगर निकाय को बेहतर ढंग से सुनिश्चित करने हेतु निर्देशित किया। नदियों के किनारे वृक्षारोपण/वनीकरण के कार्य भी कराए जाने के निर्देश दिये। 47 गंगा ग्रामों में निर्धारित योजना के अनुसार कार्यवाहियां कराने के निर्देश दिये। बलुआ घाट पर साफ-सफाई नियमित रूप से कराए जाने के निर्देश दिए।

कूड़े और अपशिष्ट का निस्तारण हो सुनिश्चित…

वहीं इस दौरान जिला पर्यावरण समिति की बैठक पर चर्चा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि कूड़े/ अपशिष्ट का निस्तारण बेहतर तरीके से सुनिश्चित किया जाय। समस्त अधिशासी अधिकारी प्रातः 5:00 से 8:00 तक संबंधित निकायों में नियमित निकलकर साफ सफाई का पर्यवेक्षण करें एवं फोटोग्राफ भी प्रेषित करें। कूड़े का नियमित उठान एवं निस्तारण बेहतर ढंग से सुनिश्चित किया जाए। सिंगल यूज प्लास्टिक के विरुद्ध नगरीय निकायों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में नियमित अभियान चलाकर धर-पकड़ कर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित किया जाए एवं फाइन वसूली भी किया जाए। प्लास्टिक सप्लायर एवं प्लास्टिक थैलों का उपयोग कर रहे प्रतिष्ठानों/दुकानों पर प्रभावी कार्यवाही करें। बायोमेडिकल अपशिष्ट के नियमित निस्तारण के निर्देश के साथ ही समस्त सरकारी एवं प्राइवेट अस्पतालों में बायोमेडिकल अपशिष्ट के संचित निस्तारण की व्यवस्था सुनिश्चित रखने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिये। उन्होंने सख्त रूप से निर्देशित करते हुए कहा कि बैठक में निर्देश दिए गए निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित होगा और इससे बेहतर कार्रवाई संबंधित विभागों द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा।
बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी एस एन श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी वाई के राय, प्रभागीय वनाधिकारी रणवीर मिश्रा, जिला विकास अधिकारी, डीसी मनरेगा, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, सहायक निदेशक मत्स्य अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours