जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट प्रांगण में किया झण्डारोहण, संविधान की प्रस्तावना का दिलाया संकल्प

Estimated read time 1 min read
Spread the love

संविधान में वर्णित मूल अधिकारों के साथ ही मूल कर्तव्यों का जीवन में अनुपालन का किया विशेष आह्वान

राजेश गुप्ता

मऊ/संसद वाणी : 75 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी श्री अरूण कुमार द्वारा कलेक्ट्रट प्रांगण में झण्डा रोहण किया गया। झंडारोहण के उपरांत जिलाधिकारी ने उपस्थित समस्त अधिकारियो एवं कर्मचारियो को संकल्प दिलाया कि ‘‘हम भारत के लोग भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक न्याय, विचार-अभियक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त कराने के लिए तथा उन सबमें व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखण्डता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढाने के लिए दृढ़ संकल्प लेते है। इसके उपरान्त जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में एक विचार गोष्ठी एवम् सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियो एवं कर्मचारियो को गणतंत्र दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए संविधान के नैतिक मूल्यो को जीवन में अपनानेे की बात कही। उन्होंने मूल अधिकारों के साथ ही संविधान में वर्णित कर्तव्यों को भी अपने जीवन में अपनाने का आह्वान किया, जिससे संविधान की मूल भावना का अनुपालन हो सके। अपने संबोधन के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि हमारे संविधान में राजनैतिक, आर्थिक एवम् प्रशासनिक सभी व्यवस्थाएं लिखित रूप में संकलित है,जिसके कारण देश की राजनितिक एवम् प्रशासनिक व्यवस्था संवैधानिक नियमों का पालन करते हुए सुनिश्चित होती है। जिला अधिकारी ने उपस्थित लोगों से संविधान में निहित मूल्यों को अपने जीवन में भी शामिल करने की अपील की। उन्होंने कहा कि संविधान की मूल भावना को समझते हुए उन्हें अपने दैनिक कार्यों में भी लागू करें। यही संविधान निर्माताओ के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी। जिलाधिकारी ने उपस्थिति अधिकारियों एवं कर्मचारियों से संविधान के आदर्शों एवं उद्देश्यों के अनुरूप ही कार्य करने का आग्रह किया, जिससे संविधान में वर्णित आदर्शों एवं उद्देश्यों की प्राप्ति हो सके। इस दौरान कलेक्ट्रेट सभागार में स्कूली बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी प्रस्तुतीकरण किया गया, जिसके उपरांत जिलाधिकारी ने कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाला बच्चों को पुरस्कृत भी किया।
इस अवसर पर अपने संबोधन में अपर जिलाधिकारी सत्यप्रिय सिंह ने लोगों से अधिकारों के साथ-साथ कर्तव्य पालन पर भी जोर देने की अपील की। उन्होंने वहां उपस्थित अधिकारियों से उनके पद हेतु निर्धारित कर्तव्यों का ईमानदारी पूर्वक पालन करने का आग्रह किया।नगर मजिस्ट्रेट राजेश कुमार सिंह ने अपने संबोधन में लोगों से संविधान में निहित मूल्यों को अपने जीवन में शामिल करते हुए कार्य करने को कहा। विचार गोष्ठी के दौरान मुख्य राजस्व अधिकारी सुशील लाल श्रीवास्तव, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट अशोक कुमार,जिला पूर्ति अधिकारी विकास गौतम जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी सहित अन्य लोगो ने भी अपने विचार प्रस्तुत किये। विचार गोष्ठी का संचालन पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी द्वारा किया गया।
उक्त अवसर पर कलेक्ट्रेट के समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours