मृतक पुत्र को न्याय दिलाने के प्रयास में दर दर भटक रहा बेबस पिता, संसदवाणी न्यूज टीम से साझा किया दर्द…

Estimated read time 1 min read
Spread the love

अशोक कुमार जायसवाल
विशेष रिपोर्ट…
चंदौली/संसद वाणी : जनपद के अलीनगर थाना क्षेत्र के तारनपुर गांव निवासी राकेश गुप्ता अपने मृतक पुत्र को न्याय दिलाने के प्रयास में दर दर भटक रहें है पर गरीब की कही सुनवाई नही हो रही पीड़ित के अनुसार वो पिछले दो महीनों से अपने पुत्र को न्याय दिलाने के लिए चंदौली और वाराणसी के थानो का चक्कर काट रहें है। बताया की 12 दिसंबर को रात 10 :30 बजे उनके घर से उनके पुत्र मोनू (मृतक) 22 वर्षीय को उसका दोस्त नितीन उर्फ विक्की अपने साथ बाजार जाने के नाम से अपने साथ ले गया उसके एक घंटे बाद 11:30मिनट पर मैने अपने पुत्र को फोन किया पर उधर से कोई उत्तर नही मिला करीब रात 12 मेरे भतीजे के फोन पर सूचना मिला की आप का लडका दुर्घटना में घायल हो गया जो अभी वाराणसी स्थित ट्रामा सेंटर है।

जब सूचना पाकर मैं वहां पहुंचा तो वहां पहले से मौजूद उसका दोस्त नितीन उम्र 24 वर्ष पुत्र एन.के जैकब निवासी न्यू सेंट्रल कॉलोनी रेलवे लोक अस्पताल के पीछे साथ में उसका भाई नितेश 30 वर्ष, इनका जीजा शैलेश गुप्ता, इनकी बहन,इनकी मां देवांति, ने मुझे बताया कि वो मर चुका है यह सुन कर मैं सन्न रह गया ।

फाईल फोटो मोनू (मृतक) 22 वर्षीय

मैं अंदर जाकर देखा तो मेरा पुत्र मोनू को सर पर पीछे गहरा चोट लगा था और उसका शव खून से लथपथ था ।

यह सब कैसे हुआ पूछने पर उनमें से कोई भी संतोष जनक जवाब नही दिया अलबत्ता उनकी बातो से मुझे संदेह हुआ की मेरे पुत्र का दुर्घटना में नही अलबत्ता इन्ही लोगो ने हत्या कर , उसके शव को ट्रामा सेंटर ले गए।

पीड़ित पिता की माने तो इस संबध में लंका थाना, पुलिस अधीक्षक चंदौली से न्याय की गुहार लगाई पर दोषियों के विरुद्ध अभी तक कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई ।

बता दे की पीड़ित अपने परिवार जीवकोपार्जन के लिए एक छोटी सी बाइक रिपेयरिंग की दुकान चलाता है। इसी दुकान में उसका मृतक पुत्र भी अपने पिता का सहयोग करता था। जिससे उनके घर का गुजर बसर होता था पर समय ने उसके पुत्र को उससे छीन लिया आज पिता अपने मृतक पुत्र को न्याय दिलाने के लिए दर-दर भटक रहा है पर उसकी गुहार सुनने वाला कोई नहीं वैसे देखा जाए तो पीएम रिपोर्ट भी पीड़ित पिता की बातों की ओर ही इशारा करती है जो बताती है कि कहीं ना कहीं उसके पुत्र की रहस्य में ढंग से हुई मृत्यु मैं किसी न किसी का तो हाथ है,जो अभी तक कानून की पकड़ से दूर है।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours