यूपीआरआरडीए की सीईओ दिव्या मित्तल ने पीएमजीएसवाई की सड़कों का किया निरीक्षण

Estimated read time 1 min read
Spread the love

राजेश गुप्ता

मऊ/संसद वाणी : उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने उ०प्र० ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के चरणबद्ध एवं समयबद्ध लक्ष्य की प्राप्ति एवं उच्च गुणवत्ता की ग्रामीण सड़कों को बनाये जाने पर विशेष ध्यान दिया जाये तथा भविष्य में एफ०डी०आर० तकनीक को प्राथमिकता देते हुये नये मार्गों का निर्माण प्रस्तावित किया जाये तथा एफडीआर तकनीक को बढ़ावा दिया जाए।, इस हेतु कान्ट्रेक्टर्स के साथ मीटिंग करते हुये अच्छा संवाद बनाए रखा जाए तथा निर्माण कार्य में गुणवत्ता व मानकों का विशेष रूप से ध्यान रखा जाए। इसके लिए जरूरी है कि कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया जाए।
उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा दिये गये निर्देशों के क्रम मे उ०प्र० ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण में नव नियुक्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्रीमती दिव्या मित्तल,द्वारा में उ०प्र० ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के मुख्य अभियन्ता, यूपीआरआरडीए, पी०एम०यू०-प्रोजेक्ट मैनेजमेन्ट यूनिट, पी०आई०यू० के अभियन्ता एवं कॉन्ट्रैक्टर के साथ शुक्रवार को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत जनपद मऊ में निर्मित 02 मार्ग, पैकेज सं० यूपी-515178, मार्ग-एमआरएल-98 करहा से जहांगंग, पैकेज सं० यूपी-5193, मार्ग-एमआरएल-65 भोजी से कठरी मार्ग एवं जनपद गाजीपुर में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत निर्मित 01 मार्ग पैकेज सं० यूपी-29135, मार्ग-टी15-रायपुर से जाही निरीक्षण किया गया। मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा जनपद मऊ में निर्मित उक्त मार्गों का निर्माण कार्य संतोषजनक पाया गया। जनपद गाजीपुर के मार्ग पैकेज सं० यूपी-29135, मार्ग-टी15-रायपुर से जाही सम्पर्क मार्ग को कॉन्ट्रैक्टर मेसर्स सी०एल० गुप्ता एण्ड एम०ई० टैक्नो सॉल्यूशन्स (जे०वी०) द्वारा समय से पूर्ण नहीं किया गया तथा प्रथमदृष्ट्या एफ०डी०आर० बेस की सतह पर अत्यधिक अन्डुलेशन पाये गये एवं कार्य संतोषजनक प्रतीत नहीं हो रहा है। मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा भौतिक, वित्तीय एवं अभिलेखीय जांच कराये जाने के निर्देश दिये गये।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours