विद्यालय में शिक्षिकाओं और छात्राओं की निजता का हनन, प्रधानाचार्य सीसीटीवी कैमरे की मदद से बनाता था लाइव विडियो,फरियादी शिक्षिका की पुलिस महकमें नहीं सुनी फरियाद…

Estimated read time 1 min read
Spread the love

ओ पी श्रीवास्तव
चंदौली/संसद वाणी : जनपद चंदौली के बलुआ थाना क्षेत्र अंतर्गत टांडा के श्री सरस्वती इंटर कालेज से इस वक्त बड़ी खबर सामने आ रही है। बता दें कि उक्त विद्यालय की शिक्षिका ने प्रधानाचार्य पर शिक्षिकाओं और छात्राओं की निजता का हनन करने का आरोप लगाया है। शिक्षिका के अनुसार चेंजिंग रूम और एमएमएम रूम में चोरी से लगाए गए सीसीटीवी कैमरे की मदद से प्रधानाचार्य द्वारा लाइव विडियोज बनाया जाता है। जिसकी शिकायत उसने 1090 महिला हेल्पलाइन और बलुआ थाना पर की लेकिन थाना प्रभारी द्वारा उसे झूठ आरोप लगाने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करने की धमकी के साथ ही डांट – फटकार कर थाना परिसर से बाहर कर दिया गया। निराश महिला शिक्षिका फरियादी के रूप में 12 बजे से लेकर शाम तक एसपी से मिलने इंतजार करती रही, लेकिन उसे एसपी चंदौली से मिलने नहीं दिया गया बाद में उसे बलुआ थाना जाने की बात बताकर सीओ ने टकरा दिया। हालांकि मामला सुर्खियों में आने के बाद संसदवाणी न्यूज के ट्वीट को संज्ञान में लेते हुए जांच की जिम्मेदारी सीओ सकलडीहा को सौंपी गई है।

महिला शिक्षिका ने प्रधानाचार्य की खोली पोल तो सब रह गए दंग….

एसपी कार्यालय चंदौली पहुंची मां सरस्वती इंटर कालेज की सहायक अध्यापिका खुशबू सिंह ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि पूरा मामला चार जनवरी का है। उस दिन जब वह भीगे कपड़ों को व्यवस्थित कर रही थी तो चोरी से लगाए गए सीसीटीवी कैमरे पर उसकी नजर पड़ी। उसका संबंध प्रधानाचार्य कक्ष से होने की पुष्टि हुई तो उसने प्रधानाचार्य कक्ष में पहुंचकर कंप्यूटर स्क्रीन पर लाइव विडियो फुटेज चलते देखा। इस बाबत शिक्षिका ने प्रधानाचार्य से लेकर प्रबंधक तक से शिकायत की लेकिन किसी ने कुछ नहीं बोला। इस दौरान उन्होंने महिला हेल्पलाइन नंबर 1090 पर भी सूचना दी तो चौकी प्रभारी ने मौके पर पहुंचकर प्रधानाचार्य से पूछताछ कर चलते बने। तत्पश्चात शिक्षिका अपने पति के साथ बलुआ थाना पहुंचकर प्रार्थना पत्र देना चाहा तो वहां थाना प्रभारी द्वारा फरियादी की फरियाद सुने बिना झूठे आरोप लगाने की बात कहकर केस लादने की धमकी दी गई। शिक्षिका ने आरोप लगाते हुए बताया की इस दौरान महिला कांस्टेबल द्वारा उसका मोबाइल और पति का मोबाइल भी छीन लिया गया और डांट – डपटकर भगा दिया। शिक्षिका ने बताया की आज प्रार्थना पत्र लेकर एसपी ऑफिस चंदौली आई हूं। कई घंटे बैठाए जाने के बाद भी एसपी से मिलने नहीं दिया गया। सीओ ने प्रार्थना पत्र लेकर बलुआ थाना जाने की बात कही है। महिला शिक्षिका ने इस दौरान एसपी से मिलने तक कार्यालय में बैठने और दोषियों पर कार्रवाई की मांग की।
हालांकि पूरे प्रकरण पर सीओ रघुराज ने बताया कि महिला शिक्षिका का प्रार्थना पत्र एसपी कार्यालय में है। जांच जारी है, दोष सिद्ध होने पर कारवाई अमल में लाई जाएगी। अब देखना लाजिमी होगा कि महिला अपराधों पर सख्त कार्रवाई के लिए मशहूर एसपी डा अनिल कुमार आगे क्या कार्रवाई इस मामले में अमल में लाते हैं।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours