चंदौली: प्रेम पर पड़ा पहरा तो घर से भाग निकला नाबालिग प्रेमी जोड़ा, आरपीएफ ने रेस्क्यू कर चाइल्ड लाइन को सौंपा…

Estimated read time 1 min read
Spread the love

अशोक कुमार जायसवाल
चंदौली/डीडीयू नगर/संसद वाणी: जनपद चंदौली के डीडीयू जंक्शन पर एक नाबालिग प्रेमी जोड़े को आरपीएफ टीम ने रेस्क्यू कर चाइल्ड लाइन को सौंपा है। बता दें कि गाड़ी संख्या 20934 अप उधना सुपरफास्ट एक्सप्रेस में दानापुर से डीडीयू जंक्शन तक के लिए तैनात मार्गरक्षण दल ने नाबालिग लड़का और लड़की संदिग्ध अवस्था में घूमते हुए मिले। मार्ग रक्षण दल ने संदिग्ध प्रतीत हो रहे युवक – युवती से पूछताछ की तो उन्होंने अपना नाम – पता बताया। दोनों रोहतास जिले के निवासी हैं और एक दूसरे से प्रेम करते हैं, घरवालों ने जब उनके प्रेम पर पहरा लगा दिया तो उन्होंने घर से भागकर गोवा के निकल पड़े। मार्गरक्षण दल द्वारा डीडीयू जंक्शन पर पहुंचकर दोनों को आरपीएफ टीम को सुपुर्द कर दिया।
डीडीयू जंक्शन पर मार्गरक्षण दल ने प्रेमी जोड़े को आरपीएफ के हवाले किया तो महिला उपनिरीक्षक सरिता गुर्जर के द्वारा काउंसलिंग कर दोनों के परिजनों का मोबाइल नंबर लेकर फोन पर जानकारी दी गई। आरपीएफ टीम ने दोनों बच्चों को डीडीयू चाइल्ड लाइन को सुपुर्द कर दिया गया। आरपीएफ टीम परिजनों को पूरे मामले से अवगत कराते हुए घर ले जाने के जानकारी दी गई। विदित हो कि आरपीएफ की सजगता से दो घरों के मासूम बच्चों को गलत दिशा की तरफ जाने से बच गए और दो घर उजड़ने से भी बच गया।
इस संबंध में आरपीएफ पोस्ट प्रभारी डीडीयू नगर प्रदीप कुमार रावत ने बताया कि वरीय अधिकारियों के निर्देशानुसार आरपीएफ नन्हे फरिश्ते अभियान के तहत घर से भागे, भूले, भटके बच्चों को रेस्क्यू कर उनके माता – पिता तक पहुंचाने का कार्य करती है और हर साल ऐसे हजारों बच्चों को उनके घर वापसी कराती है।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours