17.5 C
Munich
Tuesday, July 23, 2024

कौड़ियों के दाम बेचनी पड़ी 12 हजार करोड़ की कंपनी, हिला देगी अर्श से फर्श पर आने की ये कहानी

Must read

Business News: बीआर शेट्टी एक समय हजारों करोड़ो रुपये की संपत्ति के मालिक थे. एक शिकायत के बाद उनकी किस्मत ऐसी बदली कि उन्हें अपनी हजारों करोड़ की कंपनी कौड़ियों के दाम बेचनी पड़ी।

कई भारतीय व्यवसायी ऐसे हैं जो अरबों डॉलर के साम्राज्य के मालिक हैं. कुछ व्यवसायियों ने जिस तेजी से अपने साम्राज्य का विस्तार किया तो कुछ बेहद तेजी से नीचे फिसल गए. भारत के एक ऐसे ही कारोबारी हैं बावगुथु रघुराम शेट्टी. वे आमतौर पर बीआर शेट्टी के नाम से जाने जाते हैं. कभी उनके पास 18 हजार करोड़ रुपये की संपत्ति थी. उनके पास बुर्ज खलीफा में कई मंजिलें, शानदार कारें और प्राइवेट जेट के मालिक थे. उनके जीवन में एक दौर ऐसा आया जब उनकी हजारों करोड़ रुपये की कंपनी को सिर्फ 74 रुपये में बेचने के लिए मजबूर होना पड़ा है.

यह बात साल 2973 की है. शेट्टी ने कामकाज के बेहतर अवसर तलाशन के लिए कर्नाटक से अबूधाबी जाने का फैसला किया. इस दौरान उनके पास 700 रुपये थे. इस दौरान उन्होंने कुछ समय के लिए दवाएं भी बेंची. साल 1975 में उन्होंने न्यू शेट्टी मेडिकल सेंटर ( NMC) नाम की एक छोटी दवा कंपनी की नींव रखी. इस सेंटर पर शुरुआत में वे और उनकी पत्नी ही काम करती थी.  समय बीतने के साथ NMC यूएई की सबसे बड़ी निजी स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने वाली कंपनी बन गई. 

एक शिकायत और खत्म हो गया कारोबार

साल 2019 शेट्टी के लिए भयावह साबित हुआ. मड्डी वॉटर्स नाम की एक ब्रिटिश कंपनी इंवेस्टमेंट रिसर्च फर्म ने शेट्टी की कंपनी के ऊपर कई तरह के आरोप लगाए. ब्रिटिश कंपनी ने कहा कि शेट्टी ने कर्ज स्तर को कम दिखाने के लिए नकदी के आंकड़ो के साथ छेड़छाड़ की. इन आरोपों के बाद शेयरों के मूल्य में भारी गिरावट आई. इस कारण बीआर शेट्टी को अपनी 12478 करोड़ रुपये की कंपनी को महज 74 रुपये में इजरायल -यूएई कंसोर्टियम को बेचने के लिए मजबूर होना पड़ा. साल 2020 में अबू धाबी के व्यापारिक बैंक ने NMC के खिलाफ आपराधिक मामलों को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी.

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article