LATEST ARTICLES

कश्मीर से आतंकियों को प्रधानमंत्री मोदी ने दी चेतावनी, ‘दुश्मनों को सबक सिखाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल के दिनों में जम्मू एवं कश्मीर में हुई आतंकवादी घटनाओं का उल्लेख करते हुए बृहस्पतिवार को देश को आश्वस्त किया कि दुश्मनों को सबक सिखाने में वह कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे। लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार इस पूर्ववर्ती प्रदेश के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि अमन और इंसानियत के दुश्मनों को जम्मू एवं कश्मीर की तरक्की पसंद नहीं है और आज वो यहां का विकास रोकने के लिए ‘आखिरी कोशिश’ कर रहे हैं। 

यहां शेर-ए-कश्मीर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद अब जम्मू एवं कश्मीर में विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरु हो गई हैं। लोकसभा चुनाव में हुए भारी मतदान का उल्लेख करते हुए उनहोंने यह भी कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में आज सही मायने में भारत का संविधान लागू हुआ है क्योंकि सबको बांटने वाली अनुच्छेद 370 की दीवार अब गिर चुकी है। उन्होंने कहा, ‘‘अमन और इंसानियत के दुश्मनों को जम्मू-कश्मीर की तरक्की पसंद नहीं है। आज वो आखिरी कोशिश कर रहे हैं कि जम्मू-कश्मीर का विकास रूक सके।” उन्होंने कहा, ‘‘हाल ही में जो आतंकी वारदातें हुईं हैं, उन्हें सरकार ने बहुत गंभीरता से लिया है। मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि जम्मू-कश्मीर के दुश्मनों को सबक सिखाने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे।” 

दो दिवसीय दौरे पर यहां पहुंचे मोदी शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम में शामिल होंगे। कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने 1,500 करोड़ रुपये की 84 विकास परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने 1,800 करोड़ रुपये की लागत वाली कृषि और सम्बद्ध क्षेत्रों में प्रतिस्पर्धात्मकता सुधार (जेकेसीआईपी) परियोजना की भी शुरुआत की। प्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू-कश्मीर में सरकारी नौकरियों के लिए 2000 से अधिक लोगों को नियुक्ति पत्र वितरित किए। 

मोदी ने कहा कि आज जम्मू एवं कश्मीर में विकास के हर मोर्चे पर बड़े पैमाने पर काम हो रहा है और इसके तहत यहां हजारों किलोमीटर नई सड़कें बनी हैं, कश्मीर घाटी रेल संपर्क से भी जुड़ रही है। चिनाब नदी पर बने दुनिया के सबसे बड़े रेलवे ब्रिज का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि इसकी तस्वीरें देखकर तो हर भारतवासी गर्व से भर उठता है। लोकसभा चुनाव के नतीजों को उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि जनता को सिर्फ ‘हम’ पर विश्वास है और इस विश्वास व उनकी आकांक्षाओं को ‘हमारी सरकार’ ही पूरा कर सकती है। उन्होंने कहा, ‘‘जनता को हमारी नीयत और नीतियों पर भरोसा है।” उन्होंने कहा कि उनके नेतृत्व वाली पिछली सरकार के प्रदर्शन के आधार पर 60 साल के बाद तीसरी बार किसी सरकार को देश में जनादेश मिला है। 

मोदी ने कहा, ‘‘लोकसभा चुनाव में मिले जनादेश का बहुत बड़ा मैसेज स्थिरता का है।” उन्होंने कहा, ‘‘अब भारत स्थिर सरकार के नए दौर में प्रवेश कर चुका है। इससे हमारा लोकतंत्र और मजबूत हुआ है और इस लोकतंत्र की मजबूती में जम्मू एवं कश्मीर की आवाम की, आपलोगों की बहुत बड़ी भूमिका रही है। अटल जी ने जो इंसानियत, जम्हूरियत और कश्मीरियत का विजन दिया था। उसे आज हम हकीकत में बदलते देख रहे हैं। आपने इस चुनाव में जम्हूरियत को जिताया है। आपने पिछले 35-40 सालों का रिकॉर्ड तोड़ा है।” 

प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आज सही मायने में भारत का संविधान लागू हुआ है और ये सब कुछ हो रहा है, क्योंकि सबको बांटने वाली अनुच्छेद 370 की दीवार अब गिर चुकी है उन्होंने कहा, ‘‘मैं देश के लिए दिन-रात जो भी कर रहा हूं, नेक नीयत से कर रहा हूं। मैं बहुत ईमानदारी से, समर्पण भाव से जुटा हूं ताकि कश्मीर की जो पिछली पीढ़ियों ने भुगता है, उसे बाहर निकालने का रास्ता बनाया जा सके।” 

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1,500 करोड़ रुपये की 84 विकास परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया। जिन परियोजनाओं का उन्होंने उद्घाटन किया उनमें सड़क अवसंरचना, जलापूर्ति योजनाएं और उच्च शिक्षा में अवसंरचना आदि से संबंधित परियोजनाएं शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, प्रधानमंत्री ने चेनानी-पटनीटॉप-नाशरी खंड के सुधार, औद्योगिक संपदाओं के विकास और छह सरकारी डिग्री कॉलेजों के निर्माण जैसी परियोजनाओं की आधारशिला रखी। प्रधानमंत्री ने 1,800 करोड़ रुपये की लागत वाली कृषि और सम्बद्ध क्षेत्रों में प्रतिस्पर्धात्मकता सुधार (जेकेसीआईपी) परियोजना की भी शुरुआत की। यह परियोजना जम्मू एवं कश्मीर के 20 जिलों के 90 ब्लॉकों में क्रियान्वित की जाएगी और 15 लाख लाभार्थियों को कवर करते हुए तीन लाख परिवारों तक परियोजना की पहुंच होगी। 

‘‘आखिर ये कैसी है परीक्षा पे चर्चा”, जहां हरदम लीक होता पर्चा’, खरगे का PM मोदी पर तंज 

कांग्रेस ने यूजीसी-नेट परीक्षा को रद्द किए जाने के बाद बृहस्पतिवार को केंद्र सरकार को आड़े हाथ लेते हुए आरोप लगाया कि मोदी सरकार “लीक और फ्रॉड” के बिना कोई परीक्षा आयोजित नहीं कर सकती। पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने दावा किया कि इस सरकार ने शिक्षा एवं भर्ती की पूरी व्यवस्था को तहस-नहस कर दिया है। मेडिकल में प्रवेश के लिए होने वाली राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा (नीट)-स्नातक 2024 में कथित अनियमितताओं को लेकर उपजे विवाद के बीच, शिक्षा मंत्रालय ने राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित यूजीसी-नेट परीक्षा रद्द करने का बुधवार को आदेश दिया और मामले को गहन जांच के लिए केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपा गया है।

शिक्षा व भर्ती प्रणाली को तहस-नहस कर दिया है

खरगे ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘ये कैसी “परीक्षा पे चर्चा”, जहां रोज़ाना लीक होता पर्चा। मोदी सरकार ने देश की शिक्षा व भर्ती प्रणाली को तहस-नहस कर दिया है। नीट, यूजीसी-नेट, सीयूईटी में पेपर लीक, धांधली और घोर अनियमितताओं का अब पर्दाफ़ाश हो चुका है। बहुप्रचारित एनआरए (राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी) पूर्णतः निष्क्रिय है।” उन्होंने कहा, ‘‘अगस्त 2020 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बड़े जोर-शोर से एनआरए की घोषणा की थी। ज़बरदस्त ढिंढ़ोरा पीटकर उन्होंने बोला था – “एनआरए करोड़ों युवाओं के लिए वरदान साबित होगी। सामान्य पात्रता परीक्षा के माध्यम से, यह कई परीक्षाओं को समाप्त कर देगा और कीमती समय के साथ-साथ संसाधनों की भी बचत करेगा। इससे पारदर्शिता को भी बढ़ावा मिलेगा।”

NRA ने अब तक एक भी परीक्षा नहीं करवाई

खरगे के अनुसार, सरकारी नौकरियों के लिए मोदी सरकार ने दावा किया था कि एनआरए सभी नौकरियों के लिए एक ही भर्ती परीक्षा करवाएगी। उन्होंने दावा किया कि चार वर्ष बीत गए हैं, राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी ने अब तक एक भी परीक्षा नहीं करवाई। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘तीन वर्षों के लिए एनआरए को 1,517.57 करोड़ का कोष मुहैया कराया गया। लेकिन दिसंबर 2022 तक केवल 20 करोड़ रुपये ही ख़र्च किये गये। जब-जब संसद में विपक्ष ने जवाब मांगा, तो मोदी सरकार टाल-मटोल और बहानेबाज़ी करती गई। एनआरए को केवल निचले स्तर पर अभ्यर्थियों की छटनी करने के लिए एक एजेंसी मात्र बना दिया गया, जबकि उसको भर्ती परीक्षा की एकमात्र एजेंसी बनना था।”

युवाओं के लिए सड़क से संसद तक हमारा संघर्ष जारी

उन्होंने दावा किया कि सूचना का अधिकार के तहत मिली जानकारी के मुताबिक़ प्रधानमंत्री मोदी के “परीक्षा पे चर्चा” के खर्च में छह वर्षों में 175 प्रतिशत का उछाल आया है। खरगे ने कहा, ‘‘जो सरकार बिना धांधली के एक देशव्यापी परीक्षा नहीं करा सकती, उसके मुखिया द्वारा छात्रों को “परीक्षा” पर ज्ञान की वर्षा करना, बेईमानी है। झूठे वादों से करोड़ों युवाओं को बेरोज़गारी के दलदल में धकेलकर, मोदी जी, क़ैमरे की छाया में, बीते दिन विश्वविद्यालय घूम रहे थे।”उन्होंने यह भी कहा, ‘‘पहली नौकरी पक्की”, “आरक्षण का अधिकार” व “पेपर लीक से मुक्ति” का हमारा एजेंडा हम कायम रखेंगे। युवाओं के अधिकारों के लिए सड़क से संसद तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा।”

पीएम मोदी ने किया 10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस समारोह का नेतृत्व, कहीं ये बात 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को श्रीनगर से 10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस समारोह का नेतृत्व किया और दुनिया भर में लाखों लोगों ने इस अवसर को मनाने के लिए योगा अभ्यास शुरू किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर योग साधना की भूमि है। पीएम मोदी ने योग कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मैं अब दुनिया में जहां भी जाता हूं, वैश्विक नेता अब योग की बातें करते हैं। जिसे भी मौका मिलता है, वह योग की चर्चा शुरू कर देता है। दुनियाभर से लोग ऑथेंटिक योग सीखने भारत आते हैं। आज पूरी दुनिया में योग करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। लोगों में योग के प्रति आकर्षण बढ़ा है।

पीएम मोदी ने विशाल योग सत्र का नेतृत्व किया, जिसमें 7,000 से अधिक अन्य प्रतिभागी शामिल हुए। इस कार्यक्रम में बाद में प्रधानमंत्री द्वारा एक सभा को संबोधित करने की भी उम्मीद है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व वाले कार्यक्रम में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, केंद्रीय मंत्री प्रतापराव गणपतराव जाधव और कई अन्य लोगों के भी शामिल होने की उम्मीद थी।

इस वर्ष की थीम, ‘स्वयं और समाज के लिए योग’, व्यक्तिगत कल्याण और वैश्विक समुदाय की भावना दोनों को बढ़ावा देने की अभ्यास की क्षमता को रेखांकित करती है। यह उत्सव देश और विदेश में कई स्थानों पर आयोजित किया जाता है, जिसका उद्देश्य योग के अभ्यास के माध्यम से वैश्विक स्वास्थ्य और कल्याण को बढ़ावा देने के लिए हजारों प्रतिभागियों को एक साथ लाना है।

दिल्ली, चंडीगढ़, देहरादून, रांची, लखनऊ, मैसूर में कर्तव्य पथ के साथ-साथ, दुनिया भर के प्रमुख शहर भी योग कार्यक्रमों की मेजबानी करते हैं, जिनमें न्यूयॉर्क शहर में टाइम्स स्क्वायर, संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय, वाशिंगटन और लंदन और सिडनी के पार्क जैसे प्रतिष्ठित स्थल शामिल हैं। विदेशों में दूतावास और भारतीय मिशन भी समारोह में शामिल हुए। नई दिल्ली के पुराना किला में संस्कृति मंत्रालय योग दिवस मनाएगा. केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत कुतुब मीनार के पास सन डायल लॉन में कार्यक्रम का नेतृत्व करेंगे।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अहमदाबाद में एक योग कार्यक्रम में भाग लेंगे और अन्य लोगों के साथ सिंधु भवन रोड पर एक सार्वजनिक उद्यान में योग करेंगे।

गुरुवार को पीएम मोदी ने सभी ग्राम प्रधानों (ग्राम पंचायत अध्यक्षों) को पत्र लिखकर कहा, “जमीनी स्तर पर, मैं आपसे योग और बाजरा के बारे में अधिक जागरूकता फैलाकर समग्र स्वास्थ्य को एक जन-नेतृत्व वाला आंदोलन बनाने का आग्रह करता हूं।” आयुष मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस साल के समारोह में ‘अंतरिक्ष के लिए योग’ नामक एक उल्लेखनीय कार्यक्रम भी शामिल होगा, जिसमें इसरो के सभी केंद्रों और इकाइयों में एक सामान्य योग प्रोटोकॉल के अभ्यास पर कार्यक्रम होंगे।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से बड़े पैमाने पर प्रदर्शन आयोजित करके और प्रतिभागियों को प्रेरित करने के लिए योग राजदूत के रूप में प्रमुख सार्वजनिक हस्तियों को आमंत्रित करके सभी आयुष्मान आरोग्य मंदिरों (एएएम) में योग दिवस मनाने का आग्रह किया है। आयुष मंत्रालय ने MyGov और Myभारत प्लेटफॉर्म पर भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (ICCR) के साथ साझेदारी में ‘परिवार के साथ योग’ वीडियो प्रतियोगिता भी शुरू की है। यह दुनिया भर के परिवारों को 30 जून से पहले परिवार के साथ अपने योग समारोह के वीडियो जमा करने के लिए प्रोत्साहित करता है।

राहुल गांंधी पर गलत बयान देने के मामले में यू-ट्यूबर को नोटिस, जानें क्या हैं मामला

अयोध्या में राम मंदिर के बारे में कथित तौर पर झूठी खबर फैलाने के आरोप में नोएडा स्थित सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर अजीत भारती के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होने के कुछ दिनों बाद, बेंगलुरु पुलिस ने बृहस्पतिवार को उन्हें जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी की शिकायत के आधार पर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया। 

अजीत भारती ने अपने आधिकारिक ‘एक्स’ हैंडल पर 13 जून को एक वीडियो साझा किया, जिसमें यूट्यूबर ने झूठा दावा किया था कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने भाषणों में कहा था कि उनका इरादा राम मंदिर के स्थान पर बाबरी मस्जिद लाने का है। शिकायतकर्ता ने कहा, ‘‘यह पूरी तरह से झूठ है और (राहुल) गांधी के बयानों को गलत तरीके से पेश किया गया है। राहुल गांधी ने अपने किसी भी भाषण में ऐसा कोई बयान नहीं दिया है।” 

पुलिस सूत्रों ने यहां बताया, ‘‘बेंगलुरू से तीन सदस्यीय पुलिस दल भारती के खिलाफ दर्ज मामले के संबंध में जांच में शामिल होने के लिए उन्हें नोटिस देने नोएडा स्थित उनके आवास पर गया था।” एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कानूनी प्रकोष्ठ के सचिव एवं अधिवक्ता बी के बोपन्ना की ओर से दायर शिकायत के आधार पर, भारती के खिलाफ 15 जून को भारतीय दंड संहिता की धारा 153 ए और 505 (2) के तहत हाई ग्राउंड्स पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया था। 

बोपन्ना ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि एक ‘स्वयंभू पत्रकार और लेखक’ भारती के हालिया कार्य-कलापों के परिणामस्वरूप झूठी सूचना एवं मनगढ़ंत प्रचार को फैलाया गया, जिससे विभिन्न धार्मिक समुदायों के बीच दुश्मनी और कलह पैदा हो रही है। दूसरी ओर उत्तर प्रदेश में नोएडा के एक पुलिस अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि कर्नाटक पुलिस की टीम सेक्टर 57 स्थित अजीत भारती के आवास पर दोपहर बाद करीब एक बजे पहुंची। 

अधिकारी ने बताया, ‘‘जल्दी ही हमारी टीम भी अजीत के आवास पर पहुंची और कर्नाटक पुलिस नोटिस देने के बाद वापस लौट गयी। आम तौर पर यह प्रक्रिया है कि जब कोई पुलिस टीम बाहर से आती है तो वह स्थानीय पुलिस को सूचित करती है, लेकिन इस मामले में ऐसा नहीं हुआ है। कर्नाटक पुलिस ने अजीत भारती को नोटिस मिलने के सात दिनों के भीतर सुबह 11 बजे हाई ग्राउंड्स पुलिस थाने में जांच अधिकारी के समक्ष उपस्थित होने का निर्देश दिया है। यूट्यूबर अजीत भारती को जारी किए गए पुलिस की नोटिस में कहा गया है कि इस वीडियो का कथित तौर पर समुदायों के बीच दुश्मनी, घृणा और दुर्भावना की भावना पैदा करने का इरादा है। 

यूजीसी-नेट मामले CBI ने दर्ज की FIR, 5-6 लाख रुपये में प्रश्रपत्र बेचे जाने की आशंका

UGC-NET: केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के संदर्भ के मद्देनजर यूजीसी-नेट पेपर लीक मामले में अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ बृहस्पतिवार को एक प्राथमिकी दर्ज की। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। 

यूजीसी-नेट जूनियर रिसर्च फेलोशिप, सहायक प्रोफेसर के रूप में नियुक्ति और भारतीय विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में पीएचडी में प्रवेश के लिए भारतीय नागरिकों की पात्रता निर्धारित करने से संबंधित परीक्षा है। इस बार की यह परीक्षा 18 जून को दो पालियों में पूरे देश में आयोजित की गयी थी। 

सूत्रों ने बताया कि अगले दिन विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) को ‘भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र’ (आई4सी) की राष्ट्रीय साइबर अपराध खतरा विश्लेषण इकाई से जरूरी सूचनाएं मिलीं कि प्रश्न-पत्र डार्कनेट पर उपलब्ध हैं और कथित तौर पर मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर 5-6 लाख रुपये में बेचे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीबीआई अपराधियों को पकड़ने के लिए अपने स्वयं के ‘डार्कनेट एक्सप्लोरेशन सॉफ्टवेयर और सिस्टम’ शुरू करते हुए आई4सी के साथ निकट समन्वय में काम करेगी। 

अधिकारियों ने कहा कि शिक्षा मंत्रालय की शिकायत के अनुसार, केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत काम करने वाले आई4सी से मिली जानकारियां “प्रथम दृष्टया इस बात के संकेत देते हैं कि परीक्षा की शुचिता से समझौता किये जाने की आशंका है”। 

शिक्षा मंत्रालय के सचिव के. संजय मूर्ति के संदर्भ नोट में कहा गया है, “परीक्षा प्रक्रिया में उच्चतम स्तर की पारदर्शिता और पवित्रता सुनिश्चित करने के लिए, भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने उक्त परीक्षा को रद्द करने और मामले की गहन जांच के लिए मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो को सौंपने का फैसला किया है।” 

योग दिवस का आयोजन वृहद स्तर पर मुख्यालय स्थित कलेक्ट्रेट भवन के समाने व पुलिस लाइन में

आजमगढ़/संसद वाणी : दसवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस आज जहां हर जगह मनाया जा रहा है उसी क्रम में पर आजमगढ़ में कई जगहों पर योगाभ्यास हुआ। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन वृहद स्तर पर मुख्यालय स्थित कलेक्ट्रेट भवन के समाने किया गया। जिसमें प्रबुद्ध जन एवं आम जनमानस के साथ प्रदेश सरकार के कैबिनेट कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही सम्मिलित होकर जिले के डीएम विशाल भारद्वाज तथा आला अधिकारियों ने योग की विभिन्न क्रियाओं एवं आसनों के साथ योगाभ्यास किया। इस अवसर विभिन्न क्षेत्रों में अपना योगदान देने वाले लोगों प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया गया।

योग पुरानी परंपरा रही है, करें योग रहें निरोग के उद्देश्य पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने योग के बारे में विशेष रूप से लोगों को जागरूक किया। आज पूरा देश इसके महत्व को बखूबी समझते हुए सहभागिता कर रहा है। आजमगढ़ जिले में अंतरराष्ट्रीय दिवस पर जहां जगह-जगह योगाभ्यास किया गया, जहां पुलिस लाइन में आयोजित योग दिवस कार्यक्रम में आईजी अखिलेश कुमार, एसपी अनुराग आर्य ने पुलिस के आला अधिकारियों और पुलिसकर्मियों के साथ योग कार्यक्रम में सहभागिता की। तो वहीं इस दसवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन वृहद स्तर पर मुख्यालय स्थित कलेक्ट्रेट भवन के समाने किया गया। जिसमें प्रबुद्ध जन एवं आम जनमानस के साथ प्रदेश सरकार के कैबिनेट कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही सम्मिलित होकर योग की विभिन्न क्रियाओं एवं आसनों के साथ योगाभ्यास किया।

कार्यक्रम में विभिन्न सामाजिक संगठनों के साथ जिले के चिकित्सकों के साथ जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज, मुख्य विकास अधिकारी विकास खटाना, अपर जिला अधिकारी प्रशासन, अपर जिला अधिकारी वित्त एवं राजस्व के साथ विभिन्न सामाजिक एवं राजनीतिक संगठन एवं दलों के लोग उपस्थित होकर योगाभ्यास किया। योग के प्रशिक्षक योगाचार्य लालचंद यादव ने सभी लोगों को योग के विभिन्न क्रियो एवं आसनों के बारे में अभ्यास कर बताया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश सरकार के कैबिनेट कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने बताया कि दसवें योग की थीम योग स्वयं और समाज के लिए है। सभी से आग्रह है कि स्वयं अपने और समाज के स्वास्थ्य का संवर्धन करने के लिए प्रत्येक दिन स्वयं योग करें और समाज के सभी वर्ग के लोगों को योग करने के लिए प्रेरित करे। कहा योग करने से शरीर स्वस्थ्य रहता है और स्वस्थ्य शरीर में स्वस्थ्य मस्तिष्क का वास रहता है।

केजरीवाल को जमानत मिलने पर आप ने कहा, फैसला सत्य की जीत और भाजपा के मुंह पर करारा तमाचा

आम आदमी पार्टी (आप) ने बृहस्पतिवार को कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को जमानत देने का अदालत का फैसला सत्य की जीत है और यह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मुंह पर करारा तमाचा है। केजरीवाल को जमानत मिलने की खबर के बाद मुख्यमंत्री आवास और पार्टी मुख्यालय के बाहर जश्न मनाया गया और आम आदमी पार्टी (आप) के कार्यकर्ताओं ने पटाखे फोड़े। केजरीवाल को 21 मार्च को प्रवर्तन निदेशालय ने अब समाप्त की जा चुकी आबकारी नीति से जुड़े धनशोधन मामले में गिरफ्तार किया था।

दिल्ली की एक स्थानीय अदालत ने बृहस्पतिवार को कथित आबकारी घोटाले से जुड़े धनशोधन के एक मामले में केजरीवाल को जमानत दे दी। विशेष न्यायाधीश न्याय बिंदु ने प्रवर्तन निदेशालय की उस अर्जी को भी अस्वीकार कर दिया जिसमें जमानत आदेश को 48 घंटे के लिए स्थगित रखने का आग्रह किया गया था ताकि केंद्रीय एजेंसी इसके खिलाफ उच्च न्यायालय में अपील कर सके।केजरीवाल करीब 60 दिन से तिहाड़ जेल में बंद थे। 10 मई को उच्चतम न्यायालय ने उन्हें लोकसभा चुनाव में प्रचार करने के लिए एक जून तक अंतरिम जमानत देते हुए कहा था कि उन्हें दो जून को आत्मसमर्पण करना होगा और वापस जेल जाना होगा।

आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने मुख्यमंत्री के परिवार से मुलाकात के बाद संवाददाताओं से कहा, “इस जीत से हर कार्यकर्ता उत्साहित है। हम बहुत खुश हैं। यह भाजपा के मुंह पर करारा तमाचा है। अगर भाजपा में थोड़ी भी शर्म बची है तो उसे अब इन फर्जी मामलों को बंद कर देना चाहिए और जेल में बंद लोगों को रिहा कर देना चाहिए।” उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि केजरीवाल को सलाखों के पीछे डालने का भाजपा का एकमात्र उद्देश्य उनका राजनीतिक करियर खत्म करना और आप को कुचलना है।

केजरीवाल को जमानत मिलने के तुरंत बाद वरिष्ठ आप नेता आतिशी ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ‘सत्यमेव जयते’। पार्टी ने ‘एक्स’ पर कहा, “सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं हो सकता। भाजपा की ईडी की तमाम आपत्तियों को ख़ारिज करते हुए माननीय न्यायालय ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी को जमानत दे दी है।” पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि फैसले के बाद “सत्य की जीत हुई”। मान ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, “अदालत पर भरोसा -केजरीवाल जी को जमानत मिल गई -सत्य की जीत हुई।”

केजरीवाल की कानूनी टीम में शामिल अधिवक्ता ऋषि कुमार ने कहा कि जमानत की प्रक्रिया शुक्रवार सुबह पूरी कर ली जाएगी और मुख्यमंत्री दोपहर तक जेल से बाहर आ जाएंगे। दिल्ली के कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि पीएमएलए के मामलों में किसी भी तरह की राहत के लिए उच्चतम न्यायालय तक इंतज़ार करना पूरी न्याय व्यवस्था का दम घोंट रहा था। उन्होंने कहा, ‘‘निचली अदालतें भी समय पर न्याय दें, यह बहुत ज़रूरी था। हर मामले के उच्चतम न्यायालय जाने से उच्चतम न्यायालय पर अनावश्यक रूप से बोझ बढ़ रहा है।”

आप के राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा ने कहा, “यह सत्य जीत है और न्याय की जीत है। केजरीवाल को जमानत देने के लिए माननीय न्यायालय का हृदय से धन्यवाद।” आबकारी नीति से जुड़े धनशोधन मामले में उच्चतम न्यायालय द्वारा दी गई अंतरिम जमानत एक जून को समाप्त होने के बाद केजरीवाल ने तिहाड़ जेल में आत्मसमर्पण कर दिया था। आत्मसमर्पण के समय केजरीवाल ने कहा था, “मैं जेल इसलिए नहीं जा रहा हूं कि मैं भ्रष्टाचार में लिप्त था, बल्कि इसलिए जा रहा हूं कि मैंने तानाशाही के खिलाफ आवाज उठाई थी।”

आज भारत के दौरे पर रहेगी बांग्लादेश की PM शेख हसीना, PM मोदी समेत इन नेताओं से करेंगी मुलाकात

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना दोनों देशों के बीच पहले से ही घनिष्ठ संबंधों को और अधिक बढ़ाने के लिए शुक्रवार से भारत की दो दिवसीय राजकीय यात्रा पर आएंगी। लोकसभा चुनावों के बाद भारत में नई सरकार के गठन के बाद यह किसी विदेशी नेता की पहली द्विपक्षीय राजकीय यात्रा होगी। 

हसीना भारत के पड़ोसी और हिंद महासागर क्षेत्र के उन सात शीर्ष नेताओं में शामिल थीं, जो नौ जून को राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय मंत्रिपरिषद के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए थे। मोदी और हसीना के बीच शनिवार को व्यापक वार्ता होगी, जिस दौरान दोनों पक्षों द्वारा कई क्षेत्रों में सहयोग के लिए कई समझौते किए जाने की संभावना है। 

विदेश मंत्रालय ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निमंत्रण पर बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना 21 और 22 जून को भारत की राजकीय यात्रा पर आएंगी।” इसमें कहा गया है, “18वीं लोकसभा चुनाव के बाद भारत में सरकार बनने के बाद यह पहली द्विपक्षीय राजकीय यात्रा होगी।” 

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि मोदी के साथ द्विपक्षीय विचार-विमर्श के अलावा, हसीना का राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ से भी मुलाकात करने का कार्यक्रम है। विदेश मंत्री एस जयशंकर शुक्रवार शाम को हसीना से मुलाकात करेंगे। एक सूत्र ने बताया कि दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच बातचीत द्विपक्षीय संबंधों को नयी ऊंचाइयों पर ले जाने पर केंद्रित रहने की उम्मीद है। 

पिछले कुछ वर्षों में भारत और बांग्लादेश के बीच समग्र सामरिक संबंधों में विकास हुआ है। बांग्लादेश भारत की “पड़ोसी पहले” नीति के तहत एक महत्वपूर्ण साझेदार है और यह सहयोग सुरक्षा, व्यापार, वाणिज्य, ऊर्जा, संपर्क, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, रक्षा और समुद्री मामलों तक फैला हुआ है। 

उत्तर प्रदेश में सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रम सम्मिलित, CM योगी ने भी लिया हिस्सा 

International Yoga Day 2024: आज यानी 21 जून को देशभर में 10वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इसके लिए उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में राजभवन प्रांगण में सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रम चल रहा है। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मुख्य सचिव और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल मौजूद है।

सीएम योगी ने दी बधाई

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के दिन पर सीएम योगी ने सभी योग साधकों एवं प्रदेश वासियों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि ”योग एक संपूर्ण विधा है, जो हमें शारीरिक और मानसिक रूप से एकजुट करता है।10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आज राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के साथ राजभवन प्रांगण, लखनऊ में आयोजित सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रम में सम्मिलित हुआ। प्रदेशवासियों से अपील है कि योग को नियमित अभ्यास का हिस्सा बनाएं, यह आपके स्वास्थ्य और दीर्घ जीवन के लिए अति उत्तम है। सभी योग साधकों एवं प्रदेश वासियों को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की हृदय से बधाई एवं शुभकामनाएं!

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की थीम

इस साल योग दिवस की थीम “योग फॉर सेल्फ एंड सोसाइटी” यानी योग स्वयं और समाज के लिए है।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का इतिहास

योग करने से कई फायदे मिलते हैं। इससे न सिर्फ सेहत अच्छी रहती है बल्कि कई रोगों से भी छुटकारा मिलता है। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस लोगों को इसके प्रति जागरूक करने के लिए हर साल मनाया जाता है। पहली बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया था। प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने 11 दिसंबर, 2014 को योग दिवस का प्रस्ताव रखा था। संयुक्त राष्ट्र में कई देशों की सर्वसम्मति से 21 जून को योग दिवस मनाने की सहमति हुई थी।

योग दिवस से पहले यूपी में हुआ था ‘योग सप्ताह’ का आयोजन

यूपी में 15 से 21 जून तक हर जिले में ‘योग सप्ताह’ का आयोजन किया गया। इसके लिए मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कहा था कि यह आयोजन जिला मुख्यालय के साथ-साथ तहसीलों, विकास खंडों और ग्राम पंचायतों के स्तर पर भी कराया जाए। संबंधित जिलों के प्रभारी मंत्रियों की अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन किया जाये। योगाभ्यास कार्यक्रम के लिए सभी प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों की समुचित सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये। कार्यक्रम से पूर्व सभी ग्राम पंचायत व नगर निकायों में स्वच्छता अभियान चलाए गए थे। आज पूरे प्रदेश में योग दिवस मनाया जा रहा है

आज भारत आएंगी बांग्लादेश की PM, बालासोर में शुक्रवार आधी रात तक बढ़ाया गया कर्फ्यू , मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ में पढ़ें देश की खबरें

Morning news in Hindi: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना दोनों देशों के बीच पहले से ही घनिष्ठ संबंधों को और अधिक बढ़ाने के लिए शुक्रवार से भारत की दो दिवसीय राजकीय यात्रा पर आएंगी। लोकसभा चुनावों के बाद भारत में नई सरकार के गठन के बाद यह किसी विदेशी नेता की पहली द्विपक्षीय राजकीय यात्रा होगी। 

वहीं राष्ट्रीय राजधानी में राम मनोहर लोहिया, सफदरजंग और एलएनजेपी अस्पतालों में संदिग्ध रूप से गर्मी की वजह से बीमार हुए कम से कम 45 लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। दिल्ली में बीते कुछ दिनों से भीषण गर्मी पड़ रही है। 

संस्कृति मंत्रालय दिल्ली के पुराना किला में मनाएगा योग दिवस 

संस्कृति मंत्रालय शुक्रवार को दिल्ली के ऐतिहासिक पुराना किला स्थल पर अंतराराष्ट्रीय योग दिवस मनाएगा। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। समग्र स्वास्थ्य और कल्याण में सुधार लाने में योग की व्यापक क्षमता के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए प्रतिवर्ष 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (आईडीवाई) मनाया जाता है। 

ओडिशा सरकार ने बालासोर में कर्फ्यू शुक्रवार आधी रात तक बढ़ाया 

ओडिशा के बालासोर शहर के कुछ हिस्सों में जारी तनाव को देखते हुए ओडिशा सरकार ने बृहस्पतिवार को कर्फ्यू की अवधि 21 जून की मध्यरात्रि तक बढ़ा दी और साथ ही शुक्रवार को इसमें छह घंटे की ढील देने की भी घोषणा की। 

अमित शाह गुजरात में योग दिवस समारोह में लेंगे भाग 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 21 जून (शुक्रवार) को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर अहमदाबाद में एक योग कार्यक्रम में भाग लेंगे। शाह अन्य प्रतिभागियों के साथ शहर के सिंधु भवन रोड स्थित एक सार्वजनिक उद्यान में योग करेंगे। 

जम्मू एवं कश्मीर के दुश्मनों को सबक सिखाने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे: प्रधानमंत्री मोदी 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल के दिनों में जम्मू एवं कश्मीर में हुई आतंकवादी घटनाओं का उल्लेख करते हुए बृहस्पतिवार को देश को आश्वस्त किया कि दुश्मनों को सबक सिखाने में वह कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे। लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार इस पूर्ववर्ती प्रदेश के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि अमन और इंसानियत के दुश्मनों को जम्मू एवं कश्मीर की तरक्की पसंद नहीं है और आज वो यहां का विकास रोकने के लिए ‘आखिरी कोशिश’ कर रहे हैं। 

अर्जुराम मेघवाल बीकानेर में योग दिवस पर करेंगे 

केंद्रीय कानून राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अर्जुनराम मेघवाल मंत्री बनने के बाद प्रथम बार कल रेल मार्ग से बीकानेर पहुंचेंगे। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के आधिकारिक प्रवक्ता ने गुरुवार को बताया कि अर्जुनराम शुक्रवार सुबह सात बजे बीकानेर पहुंचेंगे। यहां बीकानेर रेलवे स्टेशन स्थित हॉल में वह अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर योग करेंगे। 

हल्की बारिश के बाद सुहावनी सुबह ने दी दिल्लीवासियों को भीषण गर्मी से कुछ राहत 

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लंबे समय से भीषण गर्मी से बेहाल दिल्लीवासियों के लिए बृहस्पतिवार की सुबह सुहावनी रही और कुछ हिस्सों में हल्की बारिश भी हुई। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने आज दिल्ली में दिन के दौरान बादल छाए रहने, हल्की बारिश होने और तेज हवाएं चलने की संभावना जताई है।