17.5 C
Munich
Tuesday, July 23, 2024

पुलिस बाप का बेटा बना गैंगस्टर, लंबी है काले कारनामों की लिस्ट, पढ़िए गोल्डी बराड़ की क्राइम स्टोरी

Must read

Goldy Brar: गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के बारे में खबरें आ रही हैं कि गोली मारकर उसकी हत्या कर दी गई है. विदेश में बैठे गोल्डी बराड़ का नाम कई बड़ी आपराधिक घटनाओं में शामिल हैं।

लगभग दो साल पहले पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला को फिल्मी स्टाइल में घेरकर गोलियों से भून डाला गया. एक शख्स ने फेसबुक पोस्ट करके इस हत्याकांड की जिम्मेदारी ली. कुछ दिनों बार रैपर हनी सिंह को धमकी दी गई. जेल में बंद गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया की हत्या कर दी गई, सलमान खान को धमकी दी गई, इन सब मामलों में एक नाम कॉमन था और वह था गोल्डी बराड़ का. कनाडा में बैठे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के बारे में खबरे आ रही हैं कि उसे गोली मारकर उसकी हत्या कर दी गई है. वहीं, भारत में गोल्डी बराड़ के लिए आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने वाला लॉरेन्स बिश्नोई लंबे समय से जेल में बंद है.

हाल ही में सलमान खान के घर पर फायरिंग के मामले में भी लॉरेन्स बिश्नोई गैंग का नाम सामने आया. कहा जाता है कि विदेश में बैठा गैंगस्टर गोल्डी बराड़ फिरौती, हत्या और अपहरण जैसी घटनाओं को अंजाम देता है. जेल में बंद लॉरेन्स बिश्नोई अपने गुर्गों के सहारे गोल्डी का काम पूरा करता है. बीते कुछ सालों में पुलिस और स्पेशल सेल जैसी अन्य एजेंसियों ने कई लोगों को गिरफ्तार भी किया है.

कौन है गोल्डी बराड़?

भारत के कई राज्यों में आपराधिक गतिविधियों को अंजाम देने वाले गोल्डी बराड़ का असली नाम सतविंदर सिंह है. 30 साल का गोल्डी बराड़ पंजाब पुलिस के सब इंस्पेक्टर शमशेर सिंह का बेटा है. पढ़े-लिखे शमशेर सिंह को अंदाजा ही नहीं था कि जिस कानून की रक्षा करने के लिए उन्होंने वर्दी पहनी, उनका बिगड़ैल बेटा उसी की धज्जियां उड़ाएगा और एकदिन मोस्ट वॉन्टेड हो जाएगा.

साल 1994 में पैदा हुए गोल्डी बराड़ को उसके पिता पढ़ा-लिखाकर कुछ बनाना चाहते थे. उसने ग्रेजुएशन में एडमिशन भी लिया लेकिन यहीं से वह लॉरेन्स बिश्नोई के संपर्क में आया और उसका साथी बन गया. उसकी आपराधिक गतिविधियों के चलते पुलिस की दबिश बढ़ी तो साल 2017 में वह कनाडा भाग गया. उसके बाद से वह कनाडा में ही है और वहीं से गैंर चला रहा है. यह भी कहा जाता है कि गोल्डी बराड़ का चचेरा भाई गुरलाल बराड़ पहले लॉरेन्स बिश्नोई का दाहिना हाथ हुआ करता था लेकिन अक्टूबर 2020 में उसकी हत्या हो जाने के बाद गोल्डी और खूंखार हो गया.

लॉरेन्स बिश्नोई की मदद से उसने अपने भाई के हत्यारे को मार डाला. इसी के बाद से पंजाब में गैंगवार शुरू हो गई. लगभग हर दूसरी हत्या में गोल्डी बराड़ और लॉरेन्स बिश्नोई का नाम आने लगा. कहा जाता है कि इन दोनों का नेटवर्क पंजाब के अलावा कई अन्य देशों तक भी फैला हुआ है. सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड और अन्य बड़े मामलों में नाम आने के बाद जनवरी 2024 में भारत सरकार ने गोल्डी बराड़ को आतंकवादी घोषित कर दिया. उसके खिलाफ UAPA के तहत कार्रवाई की गई है.

लंबी है काले कारनामों की लिस्ट

गोल्डी बराड़ का नाम सिद्धू मूसेवाला केस में आया था, उसने खुद फेसबुक पोस्ट करके जिम्मेदारी भी ली थी

देश के अलग-अलग राज्यों में गोल्डी बराड़ के खिलाफ 16 मुकदमे दर्ज हैं

दिल्ली पुलिस के अलावा, पंजाब, हरियाणा, यूपी और राजस्थान पुलिस को उसकी तलाश है

इंटरपोल ने भी गोल्डी बराड़ के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था

हथियारों की तस्करी के मामले में भी आ चुका है गोल्डी बराड़ का नाम

कारोबारियों और सेलिब्रिटी को धमकाने और फिरौती मांगने का भी है आरोप

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article