17.5 C
Munich
Tuesday, July 23, 2024

कमरे में बुलाकर करते थे पंडिताई सीखने आए नाबालिगका यौन शोषण, एक गिरफतार पर दूसरा फरार

Must read

Dandi Sewa Ashram Minors Molestation Case: उज्जैन के बड़नगर से सनसनीखेज मामला सामने आया है, जहां पर दंडी सेवा आश्रम में पंडिताई करने आए नाबालिग बच्चों के साथ वहीं के आचार्यों ने ही यौन शोषण किया.

उज्जैन के बड़नगर स्थित दंडी आश्रम से एक शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आ रहा है. खबर के अनुसार कई अलग-अलग जगहों से दंडी सेवा आश्रम में पंडिताई सीखने आए कई नाबालिग बच्चों के साथ यौन शोषण किया गया है. इस मामले में 3 नाबालिग बच्चों ने आश्रम के दो आचार्यों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है.

पंडिताई सीखने आये बच्चे हुए यौन शोषण का शिकार

पुलिस के पास जैसे ही इस मामले की जानकारी पहुंची तो उसने दोनों आचार्यों के खिलाफ कई धाराओं में शिकायत दर्ज कर तलाश शुरू कर दी. पुलिस को अभी पूरी तरह से कामयाबी नहीं मिल सकी है और उसने कर्मकांड और वेद पाठ सीखने आए 3 नाबालिग छात्रों के साथ यौन शोषण और अनैतिक काम के मामले में एक आचार्य को पकड़ लिया है तो वहीं दूसरा अभी फरार है

इन धाराओं में दर्ज हुई एफआईआर

महाकाल थान प्रभारी अजय वर्मा ने मामले पर जानकारी देते हुए बताया कि बड़नगर स्थित दंडी आश्रम में पंडिताई की शिक्षा लेने के लिए देवास, मंदसौर और राजगढ़ जिले से आए 3 नाबालिग युवाओं ने आचार्य अजय और राहुल के खिलाफ यौन शोषण और अनैतिक कार्य करने की शिकायत दर्ज कराई है. जिन युवाओं के साथ ये दुष्कर्म हुआ है उनकी उम्र 12 से 14 साल के बीच है.

पुलिस ने आश्रम के अजय आचार्य के खिलाफ बाल संरक्षण अधिनियम 2012 की धारा 7, 8, 9P और 10 की लैंगिक अपराध की धारा के तहत केस दर्ज किया है तो वहीं पर राहुल आचार्य के खिलाफ धारा 377, 506 के अलावा बाल संरक्षण अधिनियम लैंगिक अपराध की धारा 3, 4(2), 58, 6 के तहत मामला दर्ज किया है.

कमरे में बुलाकर करते थे गंदी हरकत

आश्रम में पढ़ाई कर रहे नाबालिग बच्चों ने अपनी शिकायत में बताया कि पिछले कई दिनों से आश्रम के अजय आचार्य और राहुल आचार्य उनका यौन शोषण कर रहे थे और अपने कमरे में उन्हें बुलाकर उनके साथ यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर करते थे. नाबालिग बच्चों ने ये भी बताया कि राहुल और अजय ने सिर्फ उनके साथ ही नहीं बल्कि कई और नाबालिग युवाओं के साथ यौन शोषण किया था.

बच्चों ने इस बात का भी आरोप लगाया है कि अजय आचार्य के बारे में शिकायत की बात जैसे ही सामने आने की आहट मिली तो उसे एफआईआर से 15 दिन पहले ही भगा दिया गया. इसके चलते वो अभी भी फरार है लेकिन पुलिस ने राहुल आचार्य को हिरासत में ले लिया है.

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article