17.7 C
Munich
Saturday, July 13, 2024

नूडल्स खाने से बच्चे की मौत, परिवार के पांच सदस्य गंभीर रूप से बीमार 

Must read

Child Died After Eating Noodles: उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में इंस्टेंट नूडल्स खाने के बाद एक 12 साल के लड़के की मौत हो गई. डॉक्टर के अनुसार, फूड पॉइजनिंग के कारण बच्चे की मौत हुई है. आइए जानते हैं इसके बचाव और लक्षण.

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में इंस्टेंट नूडल्स खाने के बाद एक 12 साल के लड़के की मौत हो गई और उसके परिवार के पांच सदस्य गंभीर रूप से बीमार हो गए. कहा जा रहा है कि तीन बच्चों सहित सभी छह सदस्यों ने रात में नूडल्स बनाकर खाए उसके बाद उल्टी और पेट दर्द की शिकायत की. सभी परिवार निजी अस्पताल गए और हालत में सुधार होने के बाद अगले दिन घर लौट आए।  लेकिन उसी रात उन्हें फिर बेचैनी महसूस होने लगी. 

अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि लड़के की हालत बिगड़ गई और कुछ ही देर बाद उसकी मौत हो गई. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) के चिकित्सक डॉ. राशिद ने कहा, “फूड पॉइजनिंग की शिकायत के साथ पांच लोगों को यहां भर्ती कराया गया था. एक अन्य नाबालिग विवेक की हालत गंभीर थी, इसलिए उसे पास के बरेली जिले के एक अस्पताल में रेफर किया गया है।”

क्या नूडल्स से हो सकता है फूड पॉइजन ?

विशेषज्ञों के अनुसार,  नूडल्स में पानी की मात्रा ज्यादा होने और पीएच लेवल न्यूट्रल होने के कारण तेजी से बैक्टीरिया बढ़ते हैं और फूड पॉइजनिंग के शिकार हो जाते हैं. आटा, स्टार्च, पानी और नमक से बने इंस्टेंट नूडल्स को फ्लैश फ्राई करके तैयार किया जाता है. इनमें मसाला, नमक और मोनोसोडियम ग्लूटामेट या एमएसजी भी होते हैं. वहीं, इनमें फाइबर, विटामिन और प्रोटीन बेहद कम होते हैं. इंस्टेंट नूडल्स में भी प्रति 100 ग्राम 397 ग्राम सोडियम होता है, कभी-कभी इससे भी ज्यादा होता है. जबकि सोडियम आपके शरीर के लिए काफी महत्वपूर्ण है. ज्यादा मात्रा में सोडियम होना आपके शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है.  दूसरी ओर, एमएसजी क्रोनिक सिरदर्द, हाई ब्लड प्रेशर, मतली, घबराहट, दस्त आदि का कारण बन सकता है. 

क्या है फूड पॉइजनिंग?

फूड पॉइजनिंग तब होती है जब आप बैक्टीरिया, फंगस, या वायरस जैसे जहरीले जीव से से संक्रमित दूषित भोजन खाते हैं. डॉक्टरों का कहना है कि जब आप ऐसा भोजन खाते हैं तो शरीर में उल्टी, दस्त, बुखार जैसी परेशानी होती है. इससे ठीक होने के लिए लगभग एक या दो दिन में लगते हैं. कभी-कभी, आपके शरीर में पानी की कमी के कारण फूड पॉइजनिंग जानलेवा भी हो सकती है. आंकड़ों के मुताबिक, दुनिया भर में हर साल खराब भोजन के कारण फूड पॉइजनिंग के 600 मिलियन मामले और 4,20,000 मौतें होती हैं. भोजन के कारण होने वाली 30 प्रतिशत से अधिक मौतें पाँच साल से कम उम्र के बच्चों में होती हैं. 

फूड पॉइजनिंग से कैसे बचें

फूड पॉइजनिंग से बचने के लिए हमेशा ताजा भोजन खाए. सब्जी या फल को खाने से पहले उसे अच्छी तरह से धोए. खाना बनाने के 2 घंटे बाद फ्रिज में स्टोर करें जिससे आपके खाने में जर्म न आए.

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article