17.7 C
Munich
Saturday, July 13, 2024

लोस चुनाव 2024 : बसपा प्रत्याशी सत्येंद्र कुमार मौर्य ने दो सेटों में किया नामांकन, सड़क, शिक्षा और रोजगार होगा मुद्दा…

Must read

चंदौली के पिछड़ेपन को सिर्फ बीएसपी पार्टी के नीति, सिद्धांत और मिशन के जरिए ही किया जा सकता है दूर : सत्येंद्र कुमार मौर्य..

ओ पी श्रीवास्तव
चंदौली/संसद वाणी:
चंदौली जिले में लोकसभा चुनाव 2024 के लिए नामांकन प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है। इस क्रम में बुधवार को बसपा पार्टी के उम्मीदवार सत्येंद्र कुमार मौर्य ने कलेक्ट्रेट सभागार पहुंचकर दो सेटों में नामांकन दाखिल किया। इस दौरान उनके साथ बसपा जिलाध्यक्ष धनश्याम प्रधान समेत अन्य दिग्गज उपस्थित रहे। बसपा उम्मीदवार ने नामांकन कक्ष में जिला निर्वाचन अधिकारी निखिल टीकाराम फुंडे को अपना नामांकन पत्र सौंपा। इसके साथ ही उन्होंने लोकसभा के चुनावी रण में अपनी मजबूत दावेदारी प्रस्तुत करते हुए जीत का दंभ भरा।


नामांकन पत्र दाखिल करने के पश्चात उन्होंने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा की जिले का सर्वांगीण विकास ही उनकी प्राथमिकता है। सड़क, स्वास्थ्य, शिक्षा और बेरोजगारों के लिए रोजगार ही उनका मुद्दा होगा। इस दौरान उन्होंने भाजपा के उम्मीदवार और केंद्रीय मंत्री डा महेंद्रनाथ पांडेय पर निशाना साधा। कहा की, दस साल का उनका कार्यकाल पूर्णतः फेल साबित हुआ है। चुनाव जीतने के बाद गायब होने वाले और लेट लतीफी के लिए मशहूर नेता को इस बार जनता उन्ही की तर्ज पर छलेगी। उन्होंने कहा की बसपा चंदौली लोकसभा सीट से जीत दर्ज कर अपने पुराने रिकार्ड को दुरुस्त करेगी। पार्टी ने 2014 में लोकसभा चुनाव लड़ी थी उस वक्त बसपा दूसरे नंबर पर रही और उसके खाते में 257379 वोट आए थे। लेकिन इस बार आंकड़े को बेहतर और दुरुस्त करने की रूपरेखा तैयार हो चुकी है। बताया की चंदौली के पिछड़ेपन को सिर्फ बहुजन समाज पार्टी के नीति, सिद्धांत और मिशन के जरिए ही दूर किया जा सकता है। उन्होंने कहा की हम सभी धर्म एवं संप्रदाय की उन्नति को लेकर चुनाव लड़ रहें हैं, जनकल्याण की मजबूत नींव से ही देश का विकास संभव है।

हमारा उद्देश्य है विभिन्न संस्कृतियों एवं सभ्यताओं को एक साथ जोड़कर मजबूती प्रदान करना है। कहा की पिछले एक दशक में भाजपा ने देश और समाज को बांटने की दिशा में काम किया है। सत्ता की लोलुपता की महात्वाकांक्षा के कारण ही आज देश खोखला हो चुका है।
देश में संवैधानिक अधिकार और मूल्यों का हनन किया जा रहा है। अब भाजपा के लोग खुले मंच से संविधान बदलने की बात कर रहें हैं। बाबा साहब की विचारधारा में विश्वास रखने वाले लोग एकजुट होकर आगे आएंगे तभी इस कुत्सित मानसिकता को शिकस्त दिया जा सकता है।

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article