30.7 C
Munich
Monday, July 15, 2024

क्या प्रधानमंत्री पद के दावेदार हैं केजरीवाल? जानें केजरीवाल की प्रतिक्रिया

Must read

Lok Sabha Election 2024: प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कई सवालों का जवाब दिया तो केजरीवाल की 10 गारंटियों का भी जिक्र किया. उन्होंने इंडिया अलायंस के पीएम फेस पर भी प्रतिक्रिया दी.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बीजेपी की सरकार पर जमकर हल्ला बोला. इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी की गारंटी के जवाब में केजरीवाल की गारंटी भी लॉन्च कर दी. इन गारंटी के बारे में सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हमारे पास समय नहीं था कि हम इंडिया अलायंस के अपने सहयोगियों से इस बारे में बात कर पाते. मैं इसके लिए अपने सहयोगियों से माफी मांगता हूं. आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उनके सहयोगियों को स्कूल और अस्पताल खोलने की गारंटी से क्या एतराज हो सकता है. 

केजरीवाल से पूछा गया कि क्या वे प्रधानमंत्री पद के दावेदार हैं? उन्होंने जवाब दिया नहीं. उन्होंने कहा कि इंडिया अलायंस की सरकार बनने पर इस बात पर जरूर जोर देंगे कि AAP की दी गई गारंटी पूरी हों.  आप विधायकों के साथ बैठक के बाद एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए उन्होंने 10 केजरीवाल की गारंटी देने की घोषणा की. पार्टी के शीर्ष नेताओं के साथ मौजूद दिल्ली के सीएम ने कहा कि मैंने अपने भारतीय सहयोगियों के साथ इस पर चर्चा नहीं की है. हालांकि मेरा  मानना है कि इंडिया अलायंस के किसी भी सदस्य को इन गारंटियों से कोई समस्या नहीं होगी. मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि ये पूरी हों.

केजरीवाल की गारंटी नए भारत की परिकल्पना

प्रेस कॉन्फ्रेंस में केजरीवाल ने कहा कि ये 10 गारंटी नए भारत की परिकल्पना है. इनमें से कुछ काम पिछले 75 साल में हो जाने चाहिए थे लेकिन नहीं हो सके.इन कामों को पूरा किया जाएगा. इनके बिना कोई देश मजबूत नहीं हो सकता. केजरीवाल ने कहा कि लोगों को यह तय करना होगा कि वे मोदी की गारंटी पर विश्वास करना चाहते हैं या केजरीवाल की गारंटी पर. 

केजरीवाल की 10 गारंटियों में 24X7 बिजली आपूर्ति अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाएं और हर साल युवाओं के लिए दो करोड़ नौकरियां पैदा करना शामिल है. हमने पंजाब और दिल्ली में 24×7 बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने पर काम किया.  हम इसे पूरे देश में कर सकते हैं.  देश में सरकारी स्कूलों की हालत खराब है.  हम पूरे देश में अच्छी गुणवत्ता वाली शिक्षा की व्यवस्था करेंगे.  हम जानते हैं कि यह कैसे करना है और इसे हम कर लेंगे. 

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article