एक पखवाड़े बाद भी कार्रवाई न होने पर एसीपी से लगाई गुहार

पिंडरा/संसद वाणी : फूलपुर थाना क्षेत्र के करखियाव गांव में एक पखवाड़े पूर्व दबंगो द्वारा स्कूल संचालक को जान से मारने की धमकी देने के मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न होने पर गुरुवार को एसीपी पिंडरा से गुहार लगाई।


एसीपी पिंडरा को दिए शिकायती पत्र में आरोप लगाया कि 29 मई को दबंग लोग राधा स्वामी आश्रम को हटाने की धमकी दी। जिसपर उसने पैमाइश कराने की बात कही तो उन्हें नागवार गुजरी और मारने के लिए दौड़ा लिया और जान से मारने की धमकी दी।

घटना के दिन से फूलपुर पुलिस आजकल कार्रवाई करने की बात कर रही है लेकिन कोई कार्रवाई नही की। जबकि दबंग लोग आश्रम की जमीन पर कब्जा करने के लिए एकजुट हो रहे हैं। एसीपी ने जांचोपरांत मुकदमा दर्ज करने का आश्वासन दिया।

स्कार्पियो कार ने बाइक सवार को मारी टक्कर, हालत गंभीर

पिंडरा/संसद वाणी : सिंधोरा थाना क्षेत्र के ओदार चौराहे पर बुधवार की रात्रि 9 बजे स्कॉर्पियो कार ने बाइक सवार को जोरदार टक्कर मार दी। जिससे बाइक सवार बुरी तरह घायल हो गए।


बताते है कि सिंधोरा थाना क्षेत्र के ही राजपुर निवासी मनोज पटेल 38 वर्ष व हलधर पटेल 40 वर्ष एक ही बाइक पर बैठकर ओदार बाजार से घर जा रहे थे। तभी मंगारी की तरफ से तेज गति से आ रही स्कॉर्पियो कार ने बाइक सवार को टक्कर मार दी।

बाइक चला रहे मनोज का पैर व पंजा टूट गया वही पीछे बैठे हलधर को भी हाथ पैर में गंभीर चोटें आईं। कुछ दूरी पर ही खड़ी पीआरवी ने इसकी सूचना सिंधोरा थाने पर दी। सूचना मिलते ही सिंधोरा थानाध्यक्ष अखिलेश वर्मा हमराही सिपाहियों के साथ सिंधोरा चौराहे पर घेर लिया। पुलिस देख कुछ दूरी पर ही स्कार्पियो चालक , कार खड़ी कर भाग गया। पुलिस ने कार को कब्जे में ले लिया। स्कॉर्पियो कार बड़ागांव थाना क्षेत्र के जमालपुर की बताई जाती है। कार के पीछे प्रधान लिखा हुआ है।

हवा में फैला जहर और हो गई 170,000 बच्चों की मौत, जानें बच्चों को कैसे नुकसान पहुंचाता है प्रदूषण?

जहरीली हवा, लोगों की जान पर भारी पड़ रही है. छोटे बच्चे, वायु प्रदूषण से सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं. छोटे बच्चे वायु प्रदूषण की वजह से निमोनिया, लंग इन्फेक्शन जैसी बीमारियों का शिकार हो जाते हैं. हर 5 में से 1 बच्चे की मौत, इन वजहों से हो जाती है. हैरान करने वाली बात ये है कि लोगों की जान पर आफत है लेकिन किसी भी देश की सरकारें, प्रदूषण को रोकने के लिए प्रभावी उपाय नहीं कर पाती हैं.

दुनिया में जिस रफ्तार से प्रदूषण बढ़ रहा है, लोगों के लिए आने वाले दिनों में सांस लेना भी मुहाल हो जाएगा. बुधवार को स्टेट ऑफ ग्लोबल एयर की एक रिपोर्ट ने चौंका दिया है. साल 2021 में भारत में वायु प्रदूषण की वजह से 5 साल से कम उम्र के लगभग 170,000 बच्चों की मौत होने का अनुमान है. हैरान करने वाली बात ये है कि ये आंकड़े सिर्फ एक साल के हैं.

दक्षिण एशिया और पूर्व, पश्चिम, मध्य और दक्षिणी अफ्रीका में भी वायु प्रदूषण से सबसे ज्यादा मौतें होती हैं. इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ मेट्रिक्स एंड इवैल्यूएशन द्वारा ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज, इंजरी एंड रिस्क फैक्टर्स स्टडी (GBD 2021) के आंकड़ों पर आधारित स्टेट ऑफ ग्लोबल एयर की ये रिपोर्ट चौंका रही है. 

किन बीमारियों के शिकार होते हैं छोटे बच्चे?

वायु प्रदूषण की वजह से छोटे बच्चों में निमोनिया, गले का संक्रमण और स्वांस नली में दिक्कतें पैदा होती हैं. यह वैश्विक स्तर पर हर 5 में से एक बच्चे की मौत का जिम्मेदार है. बच्चों में प्रदूषण के संपर्क में आने की वजह से कम उम्र में ही अस्थमा के मामले बढ़े हैं. 

स्टडी में अनुमान जताया गया है कि दक्षिण एशिया में पांच साल से कम उम्र के बच्चों में वायु प्रदूषण से जुड़ी मृत्यु दर बेहद चौंकाने वाली है. हर 100,000 बच्चों पर 164 बच्चों की जान जाती है. वहीं वैश्विक तौर पर ये आंकड़ा, प्रति 100,000 लोगों पर 108 मौतें है.

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि साल 2021 में भारत में करीब 169,400 मौतें, नाइजीरिया में 114,100 मौतें, पाकिस्तान में 68,100 मौतें, इथियोपिया में 31,100 मौतें और बांग्लादेश में 19,100 मौतें हुई हैं. इनमें ज्यादातर बच्चे वही हैं, जिनकी मौत वायु प्रदूषण से हुई है. 

बच्चों को कैसे नुकसान पहुंचाता है प्रदूषण?

आयशा लाइफकेयर हॉस्पिटल के डॉक्टर शाहिद बताते हैं कि बच्चों में वायु प्रदूषण से लड़ने की इम्युनिटी, वयस्कों की तुलना में बेहद कम होती है. क्लाइमेट चेंज और प्रदूषणकारी तत्वों की वजह से वे गंभीर बीमारियों का शिकार हो रही हैं. अगर बच्चा गर्भ में है तो भी उसके लिए प्रदूषण खतरनाक है. बच्चे, बड़ों की तुलना में ज्यादा प्रदूषक अवशोषित करते हैं. उनके फेफड़े, शरीर और मस्तिष्क अभी विकसित हो रहे हैं, इसलिए उनके बीमार होने की दर भी ज्यादा है. 

कैसे प्रदूषण से बच्चों को बचा सकते हैं?

डॉ. शाहिद बताते हैं कि अगर आप प्रदूषण वाले इलाकों में रहते हैं तो बच्चों को बाहर न निकलने दें. N95 मास्क का इस्तेमाल करें. उन जगहों पर न ले जाएं, जहां प्रदूषक ज्यादा हों. सिगरेट पीने वाले लोगों से बच्चों को दूर रखें, उनके पास किसी को भी सिगरेट पीने की इजाजत न दें. अपने आसपास ज्यादा हरियाली बरतें और घर में एयर प्यूरिफायर का इस्तेमाल करें.

गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट तक रोड और पटरी से अतिक्रमण हटाया गया,

वाराणसी/संसद वाणी : एसीपी दशाश्वमेध प्रज्ञा पाठक व प्रभारी निरीक्षक दशाश्वमेध, चौकी प्रभारी विकास पाण्डेय एवं नगर निगम की टीम व पुलिस बल के साथ गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट तक रोड और पटरी से अतिक्रमण हटाया गया,जिससे राहगीरों को काफी सहूलियत महसूस हो रही हैं, पुलिस और नगर निगम की ये कार्यवाही जनमानस के लिए बहुत सुकून भरा रहा।

जल जीवन मिशन के अंतर्गत जनपद में दिसंबर 2024 तक हर घर जल योजना को पूर्ण करने बना लक्ष्य

अब तक 74 प्रतिशत कार्य, सहायक अभियंता ने दी जानकारी

आजमगढ़/संसद वाणी : जल जीवन मिशन के अंतर्गत आजमगढ़ जनपद में हर घर जल योजना को लेकर अब दिसंबर 2024 तक निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने को लेकर उत्तर प्रदेश जल निगम ग्रामीण विभाग प्रयास में जुटा हुआ है। विभाग के सहायक अभियंता इंजीनियर दानिश अली ने बताया कि प्रधानमंत्री की इस महत्वाकांक्षी योजना को पूरा करने के लिए विभाग वैसे संबंधित एजेंसियां लगातार कार्य कर रही हैं जनपद में कुल 1465 जगह योजनाएं चल रही हैं जिसमें 182 जगह कार्य को पूर्ण कर लिया गया है। वहीं कई स्थानों पर पूर्णता की तरफ योजना हो गई है। किस प्रकार जनपद में 6 लाख 18 हजार 916 घरों में नल से जल पहुंचने का जो लक्ष्य निर्धारित है उसमें से चार लाख 19 हजार 786 घरों में नल से जल कनेक्शन उपलब्ध करा दिया गया है।

जो कि लक्ष्य का 74% है। यह जल पूर्ण तरीके से शुद्ध है और इसकी निगरानी के लिए लगातार विभाग और इससे जुड़े अन्य एजेंसियां कार्य कर रही हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री के द्वारा ग्रामीण इलाकों की महिलाओं को होने वाली पेयजल की परेशानियों को देखते हुए शुरू हुई इस योजना को लोकसभा चुनाव के पूर्व ही खत्म होना था। पहले जनवरी 2024 तक इस लक्ष्य को पूर्ण कर लेना था लेकिन तमाम व्यवधानों के चलते यह नहीं हो सका। लोकसभा चुनाव के चलते कुछ रुकावट हुई लेकिन अब फिर एक बार यह कार्य तेजी से प्रगति की तरफ है।

NEET 2024 Re-Exam के एडमिट कार्ड हुए रिलीज, डायरेक्ट लिंक से करें डाउनलोड

NEET 2024 Re-Exam Admit Card: नीट री-एग्जाम के एडमिट कार्ड रिलीज कर दिए गए हैं. परीक्षा का आयोजन 23 जून को होना है. यहां से फटाफट कर लें डाउनलोड, ये रहा डायरेक्ट लिंक.

NTA Releases NEET 2024 Re-Exam Admit Card: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने नीट पुन: परीक्षा 2024 के एडमिट कार्ड रिलीज कर दिए हैं. वे कैंडिडे्टस जो इस साल का नीट री-एग्जाम दे रहे हों, वे ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर बताए गए स्टेप्स फॉलो करके एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं. ऐसा करने के लिए उन्हें नीट की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा, जिसका पता ये है – exams.nta.ac.in/NEET. इसके लिए डायरेक्ट लिंक नीचे भी साझा किया गया है.

इन कैंडिडेट्स के लिए होगी आयोजित

बता दें कि नीट री-एग्जाम 2024 का आयोजन 23 जून के दिन किया जाएगा. परीक्षा उन 1563 कैंडिडेट्स के लिए आयोजित की जा रही है जिन्हें समय कम पड़ने के कारण ग्रेस मार्क्स दिए गए थे. हालांकि ये कैंडिडेट्स की च्वॉइस पर छोड़ा गया था कि वे फिर से परीक्षा देना चाहते हैं या ग्रेस मार्क्स हटाने के बाद जो स्कोर बचता है उसके साथ कॉन्टीन्यू करना चाहते हैं.

क्या रहेगी टाइमिंग

23 जून को परीक्षा का आयोजन दोपहर में 2 बजे से शाम 5.20 बजे तक किया जाएगा. ये परीक्षा केवल उन उम्मीदवारों के लिए है जिन्हें कंपनसेट्री मार्क्स दिए गए थे. इस परीक्षा के नतीजे संभवत: 30 जून के दिन जारी किए जा सकते हैं. लेटेस्ट अपडेट्स के लिए समय-समय पर वेबसाइट चेक करते रहें.

इन आसान स्टेप्स से करें डाउनलोड

एडमिट कार्ड डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं यानी exams.nta.ac.in/NEET पर.

यहां होमपेज पर एक लिंक दिया होगा जिस पर लिखा होगा – यहां क्लिक करके नीट यूजी 2024 री-एग्जाम के लिए एडमिट कार्ड डाउनलोड करें (1563 कैंडिडेट्स के लिए), इस पर क्लिक करें.

ऐसा करते ही एक नया पेज खुलेगा. इस पेज पर आपको अपने डिटेल जैसे एप्लीकेशन नंबर और डेट ऑफ बर्थ वगैरह डालनी होगी.

इसे डालें और सबमिट कर दें. इतना करते ही आपका एडमिट कार्ड कंप्यूटर स्क्रीन पर दिख जाएगा.

यहां से इसे चेक करें, डाउनलोड करें और प्रिंट निकाल लें. ये आगे आपके काम आएगा.

परीक्षा वाले दिन इसे साथ जरूर ले जाएं वर्ना आपको केंद्र में प्रवेश नहीं मिलेगा.

इस परीक्षा में कैंडिडेट्स के जो मार्क्स आएंगे, वे ही फाइनल होंगे. इस रिजल्ट के बाद पुराने अंक अमान्य हो जाएंगे.

हालांकि जो कैंडिडेट्स परीक्षा नहीं देना चुनते हैं, उनके पुराने स्कोर की मान्य होंगे लेकिन उनमें से ग्रेस मार्क्स हटा दिए जाएंगे.

इनके वही नंबर मान्य होंगे जो 5 मई के दिन हुई परीक्षा में आए थे.

एडमिट कार्ड हाथ में आने के बाद उसमें दिए निर्देश ठीक से पढ़ लें.

‘पहले से ही मिल गया था पेपर, रात भर रटा…’,  NEET आरोपी ने उगला सच 

NEET Paper Leak Case: मेडिकल एंट्रेस परीक्षा NEET 2024 में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं. अब बिहार पुलिस की जांच के दौरान एक अभ्यर्थी ने स्वीकार कर लिया है कि उसे पेपर पहले से ही मिल गया था. इस दावे के बाद शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान के वे दावे हवा-हवाई हो गए हैं, जिनमें वह बार-बार क कह रहे थे कि कोई पेपर लीक नहीं हुआ है. इस बीच आज इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई भी होनी है. इससे पहले, सुप्रीम कोर्ट ने ग्रेस मार्क पाने वाले अभ्यर्थियों की परीक्षा फिर से कराने का आदेश दिया था.

NEET पेपर लीक केस में एक अभ्यर्थी ने स्वीकार कर लिया है कि उसे पेपर पहले ही मिल गया है. बिहार पुलिस की जांच में सामने आया है कि कुछ अभ्यर्थियों को पेपर पहले से पता था और उन्हें रात भर यह पेपर रटवाया भी गया था. अब एक आरोपी ने कबूल लिया है. आरोपी अनुराग यादव ने अपने कबूलनामे में कहा है कि उसे पेपर मिल गया था और जब असली पेपर मिला तो सारे सवाल वही थे जो उसे पहले से रटवाए गए थे. इस मामले में अनुराग यादव ने अपने एक रिश्तेदार का नाम लिया है. उसने बताया कि उसके रिश्तेदार ने ही पूरी सेटिंग करवाई थी.

अनुराग यादव ने बताया है कि उसके फूफा ने नीट के पेपर के लिए सेटिंग करवाई थी. इसी के लिए उसे कोटा से पटना बुलाया गया था. उसने यह भी बताया है कि परीक्षा से एक दिन पहले ही उसे पेपर मिल गया था. हालांकि, उसने यह भी कहा है कि परीक्षा के बाद उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. बता दें कि इस मामले में बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा जांच कर रही है. बिहार पुलिस की इस टीम को एक ठिकाने से पेपर के जले हुए टुकड़े, कुछ आईडी कार्ड और अन्य दस्तावेज भी मिले थे. इस मामले में पटना के एक जूनियर इंजीनियर सिकंदर प्रसाद यादवेंदु का नाम भी शामिल किया है.

क्या बोला आरोपी अनुराग यादव?

अनुराग यादव ने बताया है कि वह समस्तीपुर का रहने वाला है.वह कोटा में रहता था और एलन कोचिंग सेंटर से पढ़ाई कर रहा था. उसने सिकंदर यादवेंदु को अपना फूफा बताया है. अनुराग ने कहा है, ‘मेरे फूफा ने कहा कि 5 मई को नीट का पेपर है. कोटा से वापस आओ, सेटिंग हो गई है. 4 मई को रात में मुझे अमित आनंद और नीतीश कुमार के पास छोड़ दिया गया. वहां मुझे नीट का पेपर और आंसर शीट मिली. रात भर हमें रटाया गया. सुबह मैं पेपर देने गया तो पेपर में सारे सवाल हूबहू थे. परीक्षा के बाद अचानक पुलिस आई और मुझे पकड़ लिया. मैंने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है.’

इस मामले में जांच कर रही पुलिस सिकंदर यादवेंदु को भी गिरफ्तार कर चुकी है. उसने भी स्वीकार किया है कि उसने अनुराग यादव के साथ-साथ अभिषेक कुमार, शिवनंदन कुमार और आयुष राज की पटना में रहने में मदद की. यादवेंदु ने माना है कि वह एक रैकेट में शामिल है जो NEET के अलावा, BPSC और UPSC के पेपर भी लीक करवा चुका है. इस मामले में पुलिस कई अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है और कुछ परीक्षार्थियों से भी पूछताछ कर चुकी है.

लखनऊ के अकबरनगर में हजारों घर पर चले बुलडोजर, अब वहां क्या बनेगा?

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अकबरनगर इलाके में मकर बुलडोजर चले रहे हैं. यहां नदी के डूब क्षेत्र में बनाए गए हजारों  घरों को तोड़ दिया गया है. लगभग 25 एकड़ में फैले पूरे इलाके को अब साफ कर लिया गया है. प्रशासन का कहना है कि जिन लोगों के घर तोड़े गए हैं, उन्हें सरकार की ओर से घर भी दिया गया है. इस मामले में अदालतों से भी लोगों को कोई राहत नहीं मिली और अब ध्वस्तीकरण का अभियान पूरा हो गया है. क्या आपको पता है कि अब यहां पर क्या होने वाला है?

अकबरनगर इलाका कुकरैल नदी के किनारे कई दशकों में बसा था. हालांकि, जो घर बनाए गए वे अवैध तरीके से नदी के डूबे क्षेत्र में और बांध के अंदर की ओर भी बनाए गए. इसी को लेकर प्रशासन ने घरों को खाली करने का नोटिस दिया था. तमाम विरोधों के बावजूद लखनऊ विकास प्राधिकरण ने अपनी कार्रवाई नहीं रोकी. अब कहा जा रहा है कि कुकरैल नदी को पुनर्जीवित करने के प्रयास किए जा रहे हैं. इन्हीं प्रयासों के तहत नदी के डूब क्षेत्र को अतिक्रमण से मुक्त कराया जा रहा है. साथ ही, उन नालों को भी बंद किया जा रहा है जो सीधे इस नदी में गिरते हैं.

बता दें कि कुकरैल नदी लखनऊ में गोमती नदी में मिल जाती है. अकबर नगर इलाके को पूरी तरह खाली करवा लिया गया है. अब यहां पर पार्क और रीवर फ्रंट बनाने की योजना है. फिलहाल, इस इलाके से मलबा हटाया जा रहा है. इसे हटाने के बाद सफाई की जाएगी.

Atif Kapadia on his latest prime video documentary federer

0

I’d never been to a tennis match in my life”: Academy Award-winning director Asif Kapadia on his latest Prime Video documentary Federer: 12 Final Days

Academy Award-winning director Asif Kapadia, known for his gripping documentaries on the lives of Ayrton Senna and Amy Winehouse, takes a unique approach to the world of tennis in his latest project, Federer: Twelve Final Days, now streaming only on Prime Video. What’s surprising, however, is Kapadia’s initial hesitation to helm the documentary. “I’d never been to a tennis match in my life. Never watched it,” he admits. But a chance encounter with unseen footage of Roger Federer’s final days, as a professional athlete, sparked an unexpected connection.

Asif Kapadia shares, “I was contacted by one of my reps in America who said, ‘There’s a project about Federer, would you be interested?’ I said, ‘I’m not sure’. They said that there was some material. Honestly, I went into it thinking it wasn’t for me. But as I’m watching it, I realise that I am actually watching it. I found myself being quite moved. I don’t know tennis, I’m not a Roger Federer fan, but something in this is affecting me and I think this is actually just about getting old. It’s not really about tennis. I’m middle-aged now, right? I was once the youngest person on a film crew, and now I’m in my fifties and I’ve got teenage kids.” This shift in perspective is what makes Federer: Twelve Final Days so compelling. It transcends the realm of sports fandom, offering a poignant reflection on mortality and the bittersweet passage of time. “I’ve done lots of life stories,” he explains, referencing his past works. But here, the focus is condensed, capturing the essence of a legend’s farewell within a tightly woven narrative.”The idea of keeping the framing short – to 12 days – was what I found interesting,” Kapadia says.  “Everyone would expect the ‘life story’ but I’ve done that, and everyone’s copying that now.” 

Federer: Twelve Final Days promises a riveting glimpse into the human side of Roger Federer, a man grappling with the end of an era, not just for himself, but for an entire generation that grew up idolising his grace and artistry on the court. Whether you’re a die-hard tennis fan or simply someone pondering on the inevitable passage of time, Asif Kapadia’s unique perspective promises a documentary that transcends the sport and offers a universally relatable story of farewell, legacy, and the melancholic beauty of growing old.

आज कश्मीर के दौरे पर रहेंगे PM मोदी, ओडिशा विधानसभा की अगली स्पीकर होंगी भाजपा की सुरमा पाढ़ी, मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ में पढ़ें देश की खबरें

Morning news in Hindi: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) 20 और 21 जून को जम्मू कश्मीर का दौरा करेंगे। इस दौरान वह केंद्र शासित प्रदेश में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास करेंगे तथा 10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मुख्य समारोह सहित कुछ अन्य कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी की जम्मू कश्मीर की यह पहली यात्रा है।  

उधर, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू बृहस्पतिवार को यहां ‘‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय शारीरिक दिव्यांगजन संस्थान” का दौरा करेंगी। मुर्मू अपनी यात्रा के दौरान पंडित दीनदयाल उपाध्याय को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगी और उसके बाद वह संस्थान परिसर में औपचारिक रूप से एक पौधा लगाएंगी, जो विकास और नवीनीकरण का प्रतीक है।  

  • भाजपा की सुरमा पाढ़ी ओडिशा विधानसभा की अगली स्पीकर होंगी

ओडिशा में राणापुर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक एवं पूर्व मंत्री सुरमा पाढ़ी ने राज्य विधानसभा की अगली स्पीकर होंगी। स्पीकर पद के लिए नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि बुधवार को दोपहर 12 बजे तक किसी अन्य राजनीतिक दल के उम्मीदवार ने इस पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल नहीं किया है। इसके लिए 20 जून को चुनाव होना था। 

  • धनशोधन मामला: मुख्यमंत्री केजरीवाल की न्यायिक हिरासत 3 जुलाई तक बढ़ी

दिल्ली की एक अदालत ने बुधवार को कथित आबकारी घोटाले से जुड़े एक धन शोधन मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की न्यायिक हिरासत की अवधि तीन जुलाई तक बढ़ा दी। आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक केजरीवाल को, उनकी न्यायिक हिरासत की अवधि समाप्त होने पर आज वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए अदालत में पेश किया गया। 

  • विदेश मंत्री एस जयशंकर श्रीलंका के दौरे पर जाएंगे 

विदेश मंत्री एस जयशंकर बृहस्पतिवार को श्रीलंका के दौरे पर जाएंगे। लगातार दूसरी बार विदेश मंत्री बनने के बाद यह उनका पहला द्विपक्षीय विदेश दौरा होगा। विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह यात्रा भारत की ‘पड़ोसी प्रथम नीति’ की पुष्टि करती है तथा श्रीलंका के प्रति भारत की निरंतर प्रतिबद्धता को रेखांकित करती है, क्योंकि यह देश उसका ‘‘निकटतम” समुद्री पड़ोसी है और समय की कसौटी पर खरा उतरने वाला दोस्त है। 

  • मोदी कैबिनेट की बैठक में किसानों को बड़ी सौगात, 14 फसलों के लिए MSP बढ़ाया

मोदी सरकार 3.0 की बुधवार को दूसरी कैबिनेट बैठक हुई। किसानों को मोदी सरकार ने बड़ी सौगात दी है। केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा, “मंत्रिमंडल ने धान, रागी, बाजरा, ज्वार, मक्का और कपास सहित 14 खरीफ सीजन की फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को मंजूरी दे दी है।”  

  • आलू चिप्स के पैकेट में मरा हुआ मेंढ़क मिला

आलू के चिप्स (पोटैटो वेफर्स) के एक पैकेट में कथित तौर पर मृत मेंढक पाए जाने के बाद बुधवार को जामनगर नगर निगम ने जांच के आदेश दे दिए हैं। मुंबई के एक निवासी द्वारा ऑनलाइन ऑर्डर की गई आइसक्रीम में मानव उंगली का टुकड़ा मिलने के दावे के कुछ दिनों बाद यह शिकायत आई है। जामनगर नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि जांच के तहत आलू के चिप्स के पैकेट के उत्पादन बैच के नमूने एकत्र किए जाएंगे। 

  • जम्मू-कश्मीर: बारामूला में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़, जवानों ने मार गिराए दो दहशतगर्द

जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं और बिल्कुल भी थमने का नाम नहीं ले रही है। जम्मू कश्मीर के बारामूला जिले में बुधवार को आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में सेना ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है जबकि दो भारतीय जवान घायल हो गए हैं। 

  • अफगानिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया की नजरें कोहली और कुलदीप पर 

भारतीय टीम अफगानिस्तान के खिलाफ बृहस्पतिवार को टी20 विश्व कप के सुपर आठ चरण के पहले मुकाबले में उतरेगी तो नजरें काफी समय से खामोश पड़े विराट कोहली के बल्ले पर होगी जबकि बायें हाथ के स्पिनर कुलदीप यादव भी अंतिम एकादश में जगह बनाने को बेताब होंगे । भारतीय टीम संयोजन को लेकर काफी चर्चा हो रही है ।